बिजनौर, जेएनएन। क्षेत्र में दीपावली के लिए बाजारों में रौनक दिखाई देने लगी है। सोमवार को अहोई अष्टमी के त्योहार के साथ ही दीपावली के लिए उत्साह व उमंग भी नजर आने लगी। बाजार भी सजने शुरु हो गए हैं। खास बात यह है कि इस बार बाजार में हस्त निर्मित कपड़े के फूलों और झालरों के प्रति अधिकांश लोग आकर्षित हो रहे हैं।

धामपुर, नहटौर व आसपास के कस्बों में अहोई अष्टमी के त्योहार के साथ ही सोमवार से दीपावली के लिए भी उत्साह नजर आने लगा है। धामपुर में खारी कुंआ से लेकर भगत सिंह चौक, मुख्य बाजार, फल चौक और बड़ी मंडी तक दुकानें सजने लगी हैं। सोमवार को अहोई अष्टमी के लिए महिलाएं खरीदारी करती दिखाई दीं। वहीं इस बार बाजार में हस्त निर्मित सामान की मांग बढ़ती दिखाई दे रही है। मुख्य बाजार में सजी अधिकांश दुकानों पर कपड़ों की रंगबिरंगी फूलों की झालरें और बंधनवार की बहुतायत देखी जा रही है। इसके अलावा रंगबिरंगी मोमबत्तियां, मोम व मिट्टी के आकर्षक दिए भी दुकानों पर सजे दिखाई दे रहे हैं। दुकान अमित कुमार ने बताया कि अभी बाजार में बिजली की झालरों की दुकानें नहीं लगी हैं, लेकिन इस बार बाजार में चाईनीज आइटमों की मांग में कमी देखी जा रही है। लोग हस्त निर्मित उत्पादों को पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा मोमबत्तियों की भी भरमार है, जिसमें नए-नए डिजाइनों की मोमबत्ती व दीपक आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

आकू : नहटौर में भी मुख्य बाजार, सर्राफा बाजार और मोहल्ला हलवाईयान में दुकानें सजी हैं। यहां विशेष बात यह है कि आगरा से देवी-देवताओं, लक्ष्मी-गणेश और हनुमान जी आदि की मूर्तियां यहां बड़े स्तर पर आती हैं। इनकी खूब मांग रहती है, अभी से दुकानों पर मूर्तियां, झालरें और कलेंडर आदि सजने शुरु हो गए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस