बिजनौर, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रभावी वैक्सीनेशन की वजह से ही तीसरी लहर पर काबू पाया जा सका है। जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद सीएम योगी ने पत्रकारों को संबोधित किया। कहा कि बिजनौर में मौजूदा समय में 841 एक्टिव केस हैं। मात्र एक मरीज अस्पताल में भर्ती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से डरने-भागने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि सतर्कता जरूरी है।

उन्होंने कहा कि देश के हर नागरिक का जीवन हमारे लिए बहुमूल्य है। भारत में बनी वैक्सीन दुनिया में सबसे ज्यादा प्रभावी है। प्रदेश में 98 प्रतिशत लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराई गईं। 43 लाख 28 हजार डोज बिजनौर में लोगों को दी गईं। 15 से 17 वर्ष के 53 प्रतिशत युवाओं को पहली डोज दी जा चुकी है। 60 वर्ष से ऊपर के 78 प्रतिशत सीनियर सिटीजन को पहली डोज दी जा चुकी है। वैक्सीनेशन और समयबद्ध कार्यवाही की वजह से ही तीसरी लहर निष्प्रभावी हुई है। जरूरत के हिसाब से सभी अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाए जा चुके हैं। सीएम ने कहा कि 15 से 17 वर्ष के किशोर वैक्सीन अवश्य लें। 60 साल से ऊपर के लोग घरों से बाहर न निकलें। मास्क अवश्य लगाएं। किसी को कोई दिक्कत हो तो चिकित्सक से संपर्क करें। सीएम ने कहा कि अगले 10 दिनों में ओमिक्रोन पर पूरी तरह नियंत्रण पा लिया जाएगा। परिवहन मंत्री अशोक कटारिया भी मौजूद रहे।

--------

चाक-चौबंद मिलीं स्वास्थ्य सेवाएं

जिला अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को स्वास्थ्य सेवाएं चाक-चौबंद मिलीं। जिला अस्पताल पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सबसे पहले बच्चों के लिए बनाए गए पीकू वार्ड का निरीक्षण किया। वार्ड में एक भी बच्चा भर्ती नहीं मिला।

जिला अस्पताल परिसर में मुख्यमंत्री कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए बनाए गए 101 बेड के एल-1 अस्पताल पहुंचे। वार्ड के 70 बेड आक्सीजन लाइन से जुड़े मिले, जबकि 31 बेडों पर सिलेंडर से आक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था की गई थी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अस्पताल में भर्ती एक मात्र मरीज के संबंध में सीएमएस डा. अरुण पांडेय से जानकारी ली। सीएमएस ने बताया कि मरीज की हालत में सुधार है। एक-दो दिन में मरीज को छुट्टी दी जा सकती है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमित के परिजनों से भी बात की। परिजनों ने बताया कि मरीज को नियमित रूप से खाना, नाश्ता और दवाएं दी जा रही हैं। सभी स्वास्थ्य सेवाएं नि:शुल्क दी गई हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री ने सीएमओ विजय गोयल से वैक्सीनेशन, कोरोना के मरीजों एवं एक्टिव केस की जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने आक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया। डीएम उमेश मिश्र, एसपी डा. धर्मवीर सिंह, सीएमओ डा. विजय गोयल, सीएमएस डा. अरुण पांडेय मौजूद रहे।

Edited By: Jagran