कोतवाली देहात : मोहित पेट्रो केमिकल में टैंक फटने से हुई बालगो¨वद की मौत के बाद उसके परिवार के सामने रोजी रोटी की समस्या खड़ी हो गई हैं। मृतक की दो पुत्रियां अविवाहित हैं जबकि दो की शादी हो चुकी है। इकलौता पुत्र छह वर्ष का है। 40 वर्षीय बालगो¨वद फैक्ट्री में करीब 13-14 साल से काम कर रहा था। उस पर मात्र तीन बीघा ही जमीन है। वह प्रतिदिन साइकिल से ड्यूटी जाता था। पत्नी माया देवी व बच्चों का रोते हुए बुरा हाल है। परिवार का भरण-पोषण करने वाला न होने के कारण उसके परिवार के समस्या खड़ी हो गई है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

संसू, जलीलपुर : मोहित पेट्रो केमिकल में ग्राम धींवरपुरा निवासी विक्रांत की मौत की खबर पर घर में कोहराम मच गया। 35 वर्षीय विक्रांत पुत्र कल्लू पिछले दस वर्ष से फैक्ट्री में नौकरी कर रहा था। विक्रांत की पत्नी रूबी अपने बच्चों राधिका, खुशी व निकुंज को लेकर परिजनों के साथ बिजनौर पहुंच गयी। घर पर मौजूद रिश्तेदार महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल है। विक्रांत बहुत ही मिलनसार व्यक्ति था। अपने भाइयों राकेश, मुकेश के बाद क्रांत व विक्रांत जुड़वा थे।

Posted By: Jagran