जेएनएन, बिजनौर। मुख्यमंत्री का दौरा शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया। ट्रैफिक और सुरक्षा व्यवस्था के लिए जगह-जगह पुलिस तैनात रही। जाम से बचने के लिए सभास्थल से एक किलोमीटर दूर बसों को रोका गया। कमिश्नर, डीआइजी समेत अधिकारी डेरा डाले रहे।

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की सुरक्षा कड़ी की गई थी। करीब दो हजार पुलिसकर्मी सुरक्षा में लगाए गए थे। बिजनौर से लेकर कार्यक्रम स्थल तक कड़ी निगरानी रही। सीओ सिटी ट्रैफिक व्यवस्था संभालने में लगे थे। जिलाधिकारी उमेश मिश्र और एसपी डा. धर्मवीर सिंह ने पूरी व्यवस्था देखी। सहयोग के लिए एनसीसी कैडेट भी लगाए गए। मुख्यमंत्री के पहुंचने से पहले ही कमिश्नर आजनेय कुमार सिंह और डीआइजी शलभ माथुर कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए थे। सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान स्वाहेड़ी के पास हाईवे पर जाम की स्थिति भी रही। पुलिस ने जाम खुलवाया। पुलिस विरोध की आशंका के चलते आशंकित रही। हालांकि पुलिस-प्रशासन कई दिन से किसान संगठनों को मनाने में लगा हुआ था, जिसमें वह कामयाब रहे। 62 मिनट तक विदुर की धरती पर रहे योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 62 मिनट तक विदुर की धरती पर रहे। कार्यक्रम स्थल पर हेलीकाप्टर की आवाज आने के साथ ही मंत्रोच्चारण होने लगा और योगी-योगी का शोर भीड़ के बीच से शुरू हो गया।

मुख्यमंत्री का प्रस्तावित कार्यक्रम सवा दो बजे का था। इससे काफी पहले से ही भीड़ पहुंचनी शुरू हो गई थी। सवा दो बजे से धीरे-धीरे समय बढ़ता गया। मुख्यमंत्री का कार्यक्रम एक घंटा पांच मिनट लेट हुआ। शांत भीड़ ने जैसे ही 3.19 पर आसमान में हेलीकाप्टर की आवाज सुनी, तो लोगों में जोश भर गया। पंडाल योगी-योगी के नारों से गूंज उठा। 3.20 पर हेलीकाप्टर उतरने के बाद मुख्यमंत्री योगी 80 मीटर दूर बने भूमि पूजन स्थल पर पैदल ही 3.26 बजे पहुंच गए। मंत्रोच्चारण के बीच ईंट रखकर और नारियल तोड़कर शिलान्यास किया। दो मिनट में शिलान्यास करने के बाद वह सीधे मंच पर पहुंच गए। मंच पर पहुंचे तो एक बार फिर से भारत माता की जय और योगी-योगी के नारों से पंडाल गूंज उठा। योगी इसके बाद 12 मिनट तक मंच पर बैठे रहे और इस बीच मंत्री सुरेश खन्ना का भाषण और स्वागत हुआ। फिर 3:50 बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भाषण शुरू हुआ जो तीस मिनट तक चला। चार बजकर 22 मिनट पर उनके हेलीकाप्टर ने उड़ान भरी।

Edited By: Jagran