बिजनौर, जेएनएन। बसपा के विधानसभा क्षेत्र प्रभारी व प्रॉपर्टी डीलर हाजी मोहम्मद एहसान और उनके भांजे शादाब की ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने बसपा सांसद गिरीश चंद्र की जीत की मिठाई देने के बहाने कार्यालय में घुसकर सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया। इस दौरान उनके कार्यालय में मौजूद हाजी एहसान का परिचित बाल-बाल बच गया। पुलिस ने संपत्ति विवाद व रंजिश समेत कई बिंदुओं पर जांच शुरू कर दी है। 

बिजनौर शहर के मोहल्ला पठानपुरा निवासी हाजी मोहम्मद एहसान का कार्यालय मेरठ-पौड़ी हाईवे पर गुरुनानक कांप्लेक्स में है। हाजी एहसान नमाज पढ़कर कार्यालय पर भांजे शादाब के साथ थे। यहां दोनों ही कुरान शरीफ पढ़ रहे थे। हाजी एहसान के संबंधी डॉ. अनवर सोफे पर आराम कर रहे थे। दोपहर बाद करीब ढाई बजे दो बदमाश बसपा सांसद गिरीश चंद्र की जीत की मिठाई देने के बहाने कार्यालय में घुसे और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। 

मिठाई के डिब्बे में पिस्टल लेकर आये थे तीन बदमाश

बसपा सांसद की जीत पर मिठाई के डिब्बे में पिस्टल लेकर तीन बदमाश आये थे। दोपहर करीब ढाई बजे हाजी मोहम्मद अहसान कार्यालय में सोफे पर बैठ कर कलाम पाक पढ़ रहे थे तभी मिठाई के डिब्बे लेकर दो लोग कार्यालय में घुसे। हाजी एहसान ने केवल इतना ही पूछा था कि क्या बात है भाई अगले ही पल कार्यालय पर आए दोनों लोगों ने मिठाई के डिब्बे से पिस्टल निकालकर हाजी एहसान और पास ही बैठे उनके भांजे शादाब और एक अन्य पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। हाजी एहसान और उनके भांजे शादाब की मौत हो गई तीसरा व्यक्ति गोली लगने से बाल-बाल बच गया।

हाजी एहसान और उनके भांजे कई गोलियां लगने पर गिर पड़े। फायरिंग से बचते हुए डॉ. अनवर बदमाशों की ओर बढ़े, लेकिन बदमाश मार्केट के बाहर बाइक लेकर खड़े तीसरे साथी के साथ भाग निकले। एहसान और शादाब को हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। चंद मिनटों में अस्पताल और एहसान के कार्यालय पर भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों ने हंगामा भी किया। एसपी सिटी लक्ष्मी निवास मिश्र ने परिजनों को ढांढस बंधाते हुए हत्यारों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। करीब दो घंटे बाद दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया।

दफ्तर में थे तभी हुआ हमला

बसपा के विधानसभा क्षेत्र प्रभारी एहसान अहमद प्रॉपर्टी का भी काम करते थे। मंगलवार दोपहर वह अपने ऑफिस में बैठे थे। इस दौरान विवाद में दूसरे पक्ष ने एहसान अहमद व उनके भांजे को गोली मार दी। आनन-फानन में सभी को दोनों को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।

हत्यारोपियों की तलाश में जुटी पुलिस
एहसान अहमद की हत्या की सूचना मिलते ही काफी संख्या में भीड़ इकट्ठी हो गई। जानकारी मिली है कि दूसरे पक्ष के लोगों को भी गोली लगी है। हालांकि वे लोग कहां भर्ती हैं,इसका पता नहीं चल पा रहा है। सूचना मिलते ही पुलिस के अधिकारी कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गए। पुलिस हत्यारोपियों की तलाश में जुट गई है। माना जा रहा है कि प्रॉपर्टी विवाद में हत्या हुई है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021