संवाद सूत्र, रेहड़ : रेहड़ में वाट्सएप प्रकरण को लेकर हुए बवाल की जांच अब अफजलगढ़ कोतवाल करेंगे। एसपी के आदेश पर रेहड़ थाने में दर्ज मामले की जांच अफलजलगढ़ स्थानांतरित कर दी गई है। दूसरी ओर ईद के मौके पर इलाके में शांति व्यवस्था कायम रखने को लेकर पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी सतर्क नजर आए। दिन भर थाना पुलिस व पीएसी की टीमों ने गांव में गश्त की।

शनिवार रात गांव निवासी एक युवक के मोबाइल के वाट्सएप ग्रुप पर एक मैसेज आया था। आरोप है कि मैसेज में इस्लाम धर्म के पैगंबर के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया गया। जानकारी होने पर इसको लेकर मुस्लिम समाज के लोगों का गुस्सा भड़क गया था। गुस्साए लोगों ने गांव के ही निवासी एक किशोर पर मैसेज वायरल करने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। गुस्साई भीड़ पर आरोपी बनाए गए किशोर के घर में घुसकर तोड़फोड़ व परिजनों के साथ मारपीट किए जाने का आरोप भी लगा। इसके अलावा एक धर्म स्थल की दीवार क्षतिग्रस्त करने, जबरन बाजार बंद कराने व उत्तेजक नारे लगाते हुए क्षेत्र का माहौल खराब करने की बात भी सामने आई। तब मौके पर पहुंचे आला पुलिस अधिकारियों ने बामुश्किल हालात काबू किए थे। रविवार सुबह पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों की तहरीर पर 12 नामजद व छह अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के साथ ही हंगामा करने के आरोपी पांच लोगों का चालान भी किया था। सोमवार को ईद त्योहार के मद्देनजर एहतियातन गांव में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती भी की गई। करीब डेढ़ सेक्शन पीएसी के साथ ही थाना पुलिस की टीम सोमवार को दिन भर इलाके में गश्त करती रही। त्योहार के शांति पूर्वक संपन्न होने का दावा पुलिस अधिकारियों ने किया। उधर, थानाध्यक्ष विजेंद्रपाल ¨सह राणा के मुताबिक मारपीट व अराजकता फैलाने के मामले में थाना पुलिस स्तर पर विवेचना जारी है। शानू पुत्र गुलाम नबी की ओर से वाट्सएप ग्रुप पर आपत्तिजनक मैसेज वायरल करने के आरोप में अज्ञात आरोपी के खिलाफ दर्ज कराई गई रिपोर्ट की तफ्तीश उन्होंने एसपी के आदेश पर अफजलगढ़ कोतवाल को स्थानांतरित किए जाने की पुष्टि की।

इनका कहना है

आइटी एक्ट में दर्ज रिपोर्ट की तफ्तीश नियमानुसार कोतवाल स्तर पर ही की जा सकती है। एसपी के आदेश के बाद जांच अफजलगढ़ कोतवाल को सौंपी गई है।

विमल किशोर, सीओ

Edited By: Jagran