सामुदायिक शौचालयों के निर्माण में लापरवाही पर कसा शिकंजा

सख्ती 15 अगस्त तक हर हाल में शौचालयों का निर्माण कराने का मिला है निर्देश लापरवाही में ग्राम पंचायत सचिवों संग एडीओ पंचायत पर भी होगी कार्रवाई जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्राम पंचायतों में बनाए जा रहे सामुदायिक शौचालयों के निर्माण में ग्राम पंचायत सचिवों की ओर से बरती जा रही लापरवाही पर शिकंजा कसने का काम शुरू कर दिया गया है। 15 अगस्त तक निर्माण कार्य को हर हाल में पूरा करने का निर्देश जारी कर दिया गया है। साथ ही निर्माण पूरा न होने पर कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। स्वच्छता मिशन केंद्र व प्रदेश सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। अनुदान पर बनाए जा रहे व्यक्तिगत शौचालयों के साथ किसी को भी खुले में शौच के लिए न जाना पड़े प्रत्येक गांव में सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कराने की योजना संचालित है। शौचालयों का संचालन हो सके, और लोग उसका उपयोग करें, शासन ने महिला समूहों को जिम्मेदारी देकर उन्हें पारिश्रमिक देने की भी व्यवस्था सुनिश्चित कर दी है। इसके बाद भी देखा जाय तो तमाम ग्राम पंचायतों में शौचालयों के निर्माण में लापरवाही बरती जा रही है। मुख्य विकास अधिकारी भानुप्रताप सिंह की ओर से गत दिवस की गई समीक्षा बैठक में 135 गांवों में सामुदायिक शौचालयों का निर्माण या तो अधूरा पाया गया था। निर्माण को पूर्ण कराने में लापरवाही बरती जा रही है। नतीजा ग्रामीणों को कोई लाभ नहीं मिल रहा है। सीडीओ ने सभी ग्राम पंचायत अधिकारियों (सचिवों) को 15 अगस्त तक का समय दिया है। सभी एडीओ पंचायत को भी निर्माण कार्य को पूरा कराने का निर्देश दिया है। चेताया है कि तय अवधि में निर्माण कार्य पूरा न होने पर सचिवों के साथ एडीओ पंचायत पर भी कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran