जासं, भदोही : नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हुए बवाल के मामले में शनिवार को पुलिस ने 59 अज्ञात उपद्रवियों का पोस्टर जारी किया है। नगर के प्रमुख 10 चौराहों पर पोस्टर चस्पा होते ही देखने वालों की भीड़ लग गई। फोटो देख अधिसंख्य परिवार के लोग धीरे से खिसक ले रहे थे। आस-पास के लोग उन्हें पहचानते हुए भी मुंह नहीं खोल रहे थे। हालांकि पुलिस ने पहचान बताने वालों के नाम को गुप्त रखने को कहा है। इसके बाद भी यदि आरोपित की पहचान नहीं होती तो पुलिस की ओर से पुरस्कार भी घोषित किया जा सकता है।

भदोही में 20 दिसंबर को जुमे की नमाज के बाद बवाल हो गया था। इस मामले में 15 उपद्रवियों के खिलाफ नामजद और 24 पर शांतिभंग की कार्रवाई की गई थी। इसके साथ ही 150 से अधिक उपद्रवियों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया था। इसमें एआइएमआइएम के जिलाध्यक्ष तनवीर हयात, यूथ कमेटी के जिलाध्यक्ष तनवीर हयात और सभासद पति खुर्रम अंसारी को जेल भेजा जा चुका है। पुलिस ने शहर के अजीमुल्लाह चौराहा, लिप्पन तिराहा, दरोपुर मोड़, भरत तिराहा, नई बाजार ईदगाह के पास, कोतवाली के सामने, स्टेशन के सामने, पकरी तिराहा, गजिया आदि स्थानों पर पोस्टर लगवाया है।

शहर कोतवाल श्रीकांत राय ने बताया कि 59 उपद्रवियों को चिह्नित कर पोस्टर प्रकाशित करवाया गया है। इसके अलावा अभी और पोस्टर भी जारी किया जाएगा। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए भी दबिश दी जा रही है। उनके खिलाफ कुर्की की भी कार्रवाई की जाएगी। उधर पोस्टर लगने के बाद देखने वालों की भीड़ जमा हो गई। लोग चेहरों को पहचाने का प्रयास करते रहे। इस दौरान जिन लोगों के परिवार से संबंधित चेहरे पोस्टर में नहीं नजर आए उन्होंने राहत की सांस ली। बताया जा रहा है कि उपद्रव करने वाले पुलिस की कार्रवाई के खौफ से पहले ही शहर छोड़ चुके हैं। घर-घर होती रही पोस्टर की चर्चा

बवाल के बाद उपद्रवियों के फोटोयुक्त पोस्टर जारी होने का संकेत पुलिस ने पहले ही दे दिया था। यही कारण है कि शनिवार को पोस्टर लगते ही लोगों की जिज्ञासा बढ़ गई। इस दौरान युवाओं ने मोबाइल में फोटो खींचकर उसे सोशल, मीडिया पर वायरल कर दिया। पोस्टर को लेकर घर-घर में चर्चा होती रही। एक-एक चेहरे लोग गौर से देखकर पहचानने की कोशिश करते रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस