जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से पंचायत चुनाव की तैयारी तेज कर दी गई है। जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद ने सभी बीएलओ से मतदान केंद्रों की स्थिति की रिपोर्ट भी मांगी थी लेकिन किसी ने एप के माध्यम से रिपोर्ट नहीं भेजी। आलम यह है कि राज्य और 15 वां वित्त आयोग से प्राप्त बजट को पानी आपरेशन कायाकल्प के माध्यम से बजट पानी की तरह बहाया जा रहा है लेकिन मतदान केंद्रों की दुश्वारी कम नहीं हो रही है।

हकीकत है कि वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में केंद्रों को दुरुस्त करने के लिए बीस करोड़ रुपये अवमुक्त किया था। चुनाव आते ही अधिकारियों को मतदान केंद्रों की याद सताने लगती है। प्रत्येक चुनाव में करोड़ों रुपये खर्च कर केंद्रों को ठीक कराया जाता है लेकिन स्थिति में कोई बदलाव नहीं होता है। पंचायत चुनाव को लेकर फिर मतदान केंद्रों की रिपोर्ट तैयार होने लगी है। अधिसंख्य केंद्रों पर विद्युतीकरण नहीं कराया जा सका है तो शौचालय ध्वस्त हो चुके हैं। कुछ ऐसे केंद्र हैं जहां पर पानी की व्यवस्था भी नहीं है। यह स्थिति तब है जब आपरेशन कायाकल्प के माध्यम से करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। सहायक निर्वाचन अधिकारी डीएस शुक्ला ने बताया कि बीएलओ रिपोर्ट नहीं दे पाए हैं। अब सेक्टर मजिस्ट्रेट से इस केंद्रों के संबंध में रिपोर्ट मांगी जाएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021