जागरण संवाददाता, ऊंज(भदोही): विकास खंड डीघ में राजकीय हाईस्कूल वहिदानगर अव्यवस्थाओं की ढेर में छात्रों की शिक्षा गुम हो गई है। यह स्थिति तब है जब आए दिन जनपदस्तरीय अधिकारी निरीक्षण करने पहुंचते हैं और खुले कंठ से सराहना कर विद्यालय से बाहर निकलते हैं। प्रधानाध्यापिका मीना श्रीवास्तव ने अव्यवस्था को लेकर कई बार पत्र भेज चुकी है लेकिन स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ। छत टपकने से जहां छत शीत से नहा चुकी हैं तो वही शौचालय पूरी तरह ध्वस्त हो चुके हैं। आनन-फानन में अधूरे भवन को ही हैंडओवर कर लिया गया है।

राजकीय हाईस्कूल वहीदानगर परिसर के पास संचालित किया जाता है। यहीं पर खंड विकास अधिकारी का कार्यालय भी है। आधी-अधूरी बिल्डिग को आनन फानन हैंडओवर कर दिया गया। बाउंड्रीवाल न होने से छात्राओं की सुरक्षा व्यवस्था ठीक से नहीं हो सकी है। बारिश में छत टपकने से पूरे भवन को शीत जकड़ लिया है। अव्यवस्था के चलते छात्राओं को परेशानी उठानी पड़ रही है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक मीना श्रीवास्तव का कहना है कि 93 छात्रा रहती हैं। सुविधा को लेकर कई बार विभागीय स्तर पर पत्र भेजा जा चुका है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

-------------

क्या कहती हैं छात्राएं.

विद्यालय में बने शौचालय पूरी तरह ध्वस्त है। जिससे छात्राओं को काफी दिक्कत का सामना उठाना पड़ रहा है। अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

शाइना बानो।

--------

विद्यालय तक आने के लिए कोई संपर्क मार्ग नहीं है। विद्यालय की जमीन कुछ दबंग लोग कब्जा किए हुए हैं। अधिकारियों से इसको लेकर कई बार कहा गया लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है।

जन्नत बानो।

-------------

बरामदा पूरी तरह से कमरा का टूटा हुआ है। फर्श पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। बरसात में पानी टपक रहा था। छात्राओं को खतरा बना हुआ है।

रुचि मौर्या।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप