जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : मौसम हर रोज बदल रहा है। कभी दिन में धूप निकलने से राहत कभी दिन भर बदली छाई रहती है। मंगलवार को मौसम ने फिर से पलटी मारी और सुबह दस बजे तक कोहरा छाया रहा। शीतलहरी ने हर किसी को हिलाकर रख दिया। दोपहर तक छाई रही धुंध से सूर्यदेव के दर्शन तक नहीं हुए। वहीं सर्द हवा के चलते बढ़ी शीतलहरी ने लोगों को घरों में दुबकने को विवश कर दिया। सुबह बिस्तर से निकले लोग काम काज में लगने के बजाय राहत पाने के लिए अलाव से चिपके रहे। ठंडी ऐसी बढ़ी कि न्यूनतम तापमान 6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

जनवरी की शुरुआत से ही ठंड व गलन ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। ठंड व गलन में बेहिसाब इजाफा हो जाने से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका था। लोग जरूरी कार्यों तक को स्थगित करने को मजबूर हो उठे थे तो मजदूरी आदि करके रोज कमाने-खाने वालों के समक्ष आर्थिक तंगी खड़ी हो चुकी थी। हालांकि भले ही ठंड कायम रही लेकिन सप्ताह भर से हो रही धूप से लोग काम-काज निबटाने लगे थे। लोगों को दिन में कुछ राहत भी मिल जा रही थी लेकिन मंगलवार को अचानक फिर से मौसम ने करवट ली। छाए घने कोहरे से लोग बेहाल हो उठे। उधर राजमार्ग से लेकर अन्य सड़कों पर वाहनों की रफ्तार थम गई।

---------

किसानों की बढ़ी मुश्किल

ठंड व गलन ने गेहूं फसल की सिचाई में जुटे किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी है। कड़ाके की ठंड में उनके लिए सिचाई करना भारी पड़ रहा है। विशेषकर निजी नलकूप व पंपसेट आदि से रात में सिचाई करना बेहद कठिन साबित हो रहा है।

Edited By: Jagran