जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : आसमान में मंगलवार को सुबह ही बादलों ने डेरा डाल दिया। दिन भर छाए रहे बादल से तापमान में गिरावट आई, इससे आम जनमानस ने तो राहत महसूस की लेकिन किसानों की धड़कन बारिश होने की आशंका से बढ़ गई। उधर तेज हवा के चलते गेहूं की मड़ाई का कार्य बाधित रहा।

पिछले कई दिनों से सूरज की किरणें आग बरसा रही हैं। 42 पार चल रहे तापमान संग चुभती धूप से सभी बेहाल हो उठे थे। ऐसे में मंगलवार को जब मौसम का रूख पलटा, बादलों की दस्तक हुई और तापमान गिरकर 36 डिग्री पर आ गया। इससे गर्मी व धूप से राहत तो मिली लेकिन किसान इस आशंका से सहम उठे कि कहीं बारिश हुई तो फसल भीग जाएगी और मड़ाई का कार्य प्रभावित होगा। वैसे दिन भर चलती रही तेज हवा के चलते भी मड़ाई कार्य नहीं हो सका।

--------

प्रभावित होगी गुणवत्ता

- कृषि विज्ञान केंद्र बेजवां के कृषि वैज्ञानिक (विषय वस्तु विशेषज्ञ) डा. आरपी चौधरी ने बताया कि जो मौसम दिखा उससे लग रहा है कि बारिश हो सकती है। बारिश हुई और फसल भींगी तो मड़ाई तो प्रभावित होगी ही भूसे व उपज की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी। बताया कि जो दाने एक बार भीग जाते हैं वह बीज के लिए भी अच्छे नहीं होते।

Posted By: Jagran