पशुपालकों तक कृत्रिम गर्भाधान की सुविधा पहुंचाएंगे पशु मित्र

जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : पशुपालन को बढ़ावा देने में विभाग का सहयोग करने के लिए जिले में पशु मित्र की तैनाती की जाएगी। इसे लेकर विभाग की ओर से प्रक्रिया पूरी की जा रही है। जिले में 22 पशु मित्रों की तैनाती होगी। जो गाय और भैसों में कृत्रिम गर्भाधान की सुविधा उपलब्ध कराएंगे। इससे जहां पशुपालकों को लाभ मिलेगा वहीं पशु मित्र के रूप में चयनित युवाओं को रोजगार।

पशुपालन को बढ़ावा देने को लेकर शासन स्तर से यूं तो तमाम कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। मवेशी सुरक्षित रहें इसे लेकर समय-समय पर टीकाकरण आदि का अभियान चलाया जाता है जबकि जिले में योजनाओं को क्रियान्वित करने को लेकर संचालित 11 पशु अस्पतालों में चिकित्सक व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की पर्याप्त संख्या नहीं है। इससे पशुओं के इलाज में दिक्कत आती है तो सबसे बड़ी समस्या मवेशियों के कृत्रिम गर्भाधान को लेकर खड़ी हो जाती है। समय से चिकित्सक आदि नहीं पहुंच पाते हैं। इन दिक्कतों को देखते हुए पशु मैत्री योजना शुरू की गई है। विशेषकर कृत्रिम गर्भाधान के लिए पशुमित्र तैनात किए जाएंगे।

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. जयसिंह ने बताया कि जिले में ओबीसी व सामान्य वर्ग से 17 व अनुसूचित जाति से पांच कुल 22 पशु मित्र के तैनाती की योजना है। बताया इसके लिए आवेदन लिया जा चुका है। चयन व छह माह के प्रशिक्षण के बाद उन्हें कृत्रिम गर्भाधान किट मुहैया कराया जाएगा। सीमेन चढ़ाने पर पशु मित्रों को विभाग प्रति केस 50 रुपये पारिश्रमिक का भुगतान करेगा। इसके साथ ही पशु मित्रों की ओर से किए गए कृत्रिम गर्भाधान के बाद जब मवेशी बच्चा देंगे तो 100 रुपये प्रोत्साहन राशि दिया जाएगा। शासन की इस योजना से जहां पशुपालकों को सुविधा मिलेगी तो पशु मित्र के रूप में चयनित युवाओं को रोजगार सुलभ हो जाएगा।

Edited By: Jagran