जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : संपूर्ण समाधान दिवस पर शनिवार को अपनी समस्या के निराकरण की आस में आए फरियादियों को एक बार फिर मायूसी ही हाथ लगी और विभिन्न विभागों से संबंधित आए 233 में से 19 मामलों का ही त्वरित निस्तारित हो सका। लंबित मामलों को लेकर अधिकारियों ने चेतावनी दी। निस्तारण में लापरवाही मिली तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सदर तहसील ज्ञानपुर सभागार में अपर जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार मिश्रा और पुलिस अधीक्षक डा. अनिल कुमार ने फरियादियों की फरियाद सुनीं। कहा कि समाधान दिवस में आने वाले फरियादियों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराया जाए। ऐसा न हो कि एक ही समस्या को लेकर बार-बार आने को लोग विवश हों। गत तहसील दिवसों के लंबित प्रार्थना पत्रों को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों के प्रति नाराजगी जाहिर की। कहा कि एक सप्ताह के अंदर प्रकरणों का निस्तारण कराएं। चेतावनी देते हुए कहा कि इस मामले में लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। समाधान दिवस के अवसर पर ज्यादातर मामले राजस्व, पुलिस से संबंधित आए थे। राजस्व-पुलिस विभाग के अधिकारीगण संयुक्त टीम बनाकर मौके पर जाएं तथा जांचोंपरांत समस्याओं का समाधान कराएं। ज्ञानपुर तहसील में कुल 79 फरियादियों ने अपने-अपने प्रार्थना पत्र दिए जिनमें से छह का तत्काल मौके पर निस्तारण कर दिया गया। इस मौके पर सीडीओ भानु प्रताप सिंह, उप जिला अधिकारी योगेंद्र साहू आदि थे। इसी क्रम में भदोही तहसील में अपर पुलिस अधीक्षक राजेश भारती, उप जिलाधिकारी चंद्र शेखर, डिप्टी कलेक्टर पिनाक पाणि द्विवेदी ने फरियाद सुनीं। इस दौरान आए 102 में से महज नौ का मामलों का निस्तारण किया। इसी तरह तहसील औराई में उप जिलाधिकारी लाल बाबू दुबे ने फरियादियों से रूबरू हुए। इस दौरान आए 52 में से चार का मौके पर निस्तारण किया गया।

Edited By: Jagran