बस्ती: हरितालिका तीज व्रत जनपद में पूरी श्रद्धा के साथ मनाया गया। सुहागिन महिलाओं ने पति की दीर्घायु व अखंड सौभाग्य के लिए भगवान शिव व मां पार्वती की आराधना की। दिन भर निराजल व्रत रख कर सुहागिनों ने मंदिरों में पूजा आराधना की। जहां व्रत से संबंधित कथा सुनाई गई। महिलाओं ने बताया कि तीज व्रत का विशेष महत्व है। इस दिन गौरी-शंकर की पूजा का विधान है। मान्यता है कि हरतालिका तीज का व्रत करने से सुहागिन महिला के पति की उम्र लंबी होती है जबकि कुंवारी कन्याओं को मनचाहा वर मिलता है। ¨हदू कैलेंडर के अनुसार बुधवार को हरितालिका तीज मनाई गई। सुहागिन महिलाओं की हरितालिका तीज में गहरी आस्था है। पं. विद्याधर शुक्ल ने बताया कि इस व्रत को करने से सुहागिन स्त्रियों को भगवान शिव व माता पार्वती अखंड सौभाग्य का वरदान देते हैं। इस व्रत के रखने से दांपत्य जीवन सुखमय बना रहता है। परिवार में सामंजस्य बढ़ता है।

Posted By: Jagran