जासं, दुबौला, बस्ती: कप्तानगंज थाने के विद्युत उपकेंद्र दुबौला (हरदी) क्षेत्र के चेरुईया गांव में फाल्ट सही करने के दौरान करंट की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई।

बेलघाट गांव के 35 वर्षीय प्रदीप सोनी स्व. भागीरथी गुरुवार को सुबह पोल सीधा करने गए थे। पोल ठीक करने के दौरान वह करंट की चपेट में आ गए। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। परिजनों ने बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है। कहा कि शटडाउन न मिलने के कारण उनकी मौत हुई है।

बिजली विभाग के संविदा पर काम करने वाले लाइनमैन प्रदीप से अक्सर सहयोग लेते थे। काम अधिक होने पर लाइन ठीक करने के लिए भेज देते थे। बाद में कुछ मेहनताना भी देते थे। इसी से मृतक के घर का खर्च निकल जाता था। दो दिनों तक लगातार बारिश के दौरान चेरुईया गांव में बिजली पोल गिर गया था। वह पोल को सीधा करने के लिए गया था। परिवार में पत्नी बीनू, बेटी आरोही, बेटा अंकित व आदित्य है। घर में इकलौता वह कमाने वाले थे। अवर अभियंता अशोक चंद्र पाल ने बताया कि शट डाउन दिया गया था। पोस्टमार्टम में मौत की असली वजह सामने आ जाएगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस