जागरण संवाददाता, बस्ती : जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने नगरपालिका एवं सभी नगर पंचायतों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करने के साथ ही बचाव एवं रोकथाम के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने पर जोर दिया है। डीएम कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 महामारी की समीक्षा कर रही थीं। बताया कि कोविड-19 के मरीज बढ़ रहे हैं। ऐसी हालत में सावधानी एवं सतर्कता बरतना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि पूर्व में गठित की गई निगरानी समितियों को सक्रिय करें तथा बाहर से आए हुए लोगों का कोरोना टेस्ट कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देश दिया है कि नगर पालिका एवं नगर पंचायत क्षेत्र में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था रखें तथा एंटी लारवा छिड़काव कराएं। वर्तमान समय में मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ रहा है, ऐसे में क्षेत्र में साफ-सफाई एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए। प्रमुख चौराहों पर लाउडस्पीकर के माध्यम से कोरोना के रोकथाम एवं बचाव संबंधी उपायों की जानकारी देने का निर्देश दिया। सभी ईओ सुनिश्चित करें कि सभी लोग मास्क का नियमित प्रयोग करें। कार्यालयों में नियमित रूप से हाथ धोएं एवं सैनिटाइजेशन की व्यवस्था हो।

डीएम ने निर्देश दिया है कि निगरानी समितियों के माध्यम से बाहर से आए हुए लोगों की निरंतर निगरानी की जाए। बाहर से आने वालों को होम आइसोलेट किया जाए। उनकी कोरोना जांच और टीका लगाने का प्रबंध किया जाए। कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति,जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित है, को अनिवार्य रूप से अस्पताल में भर्ती किया जाए। यदि वे होम आइसोलेशन में रहते हैं, तो पूरे परिवार से अलग रहे और उनकी थर्मामीटर एवं पल्स ऑक्सीमीटर से नियमित जांच करायी जाय। बैठक का संचालन एडीएम अभय कुमार मिश्र ने किया। ईओ अखिलेश त्रिपाठी तथा नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारीगण उपस्थित रहे।