बस्ती : प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि 15 नवंबर तक सभी किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान कर दिया जाएगा। शासन स्तर पर सख्ती की गई है। धान की फसल इस साल अच्छी है। उत्पादन बेहतर रहेगा। उम्मीद है रबी फसल भी बेहतर होगी। किसान जैविक विधि से खेती करें। फसल उत्पादन के साथ ही खेत की मिट्टी सुधरेगी। फसलों में कीटनाशक का प्रकोप भी कम होगा।

कृषि मंत्री लखनऊ से देवरिया जाते समय जनपद के बड़ेवन ओवरब्रिज के पास स्थित एक होटल में भाजपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात किए तथा पत्रकारों से बातचीत की। कहा, किसान नई तकनीक से खेती करें, इसके लिए उन्हें सलाह दी जाएगी। 22 अक्टूबर को मुख्यमंत्री पांचवें चरण की किसान पाठशाला का उद्घाटन करेंगे जो 26 अक्टूबर तक न्याय पंचायत स्तर पर चलेगा। संतुलित खाद और रसायन प्रयोग की जानकारी दी जाएगी। फसल अवशेष निस्तारण के लिए अनुदान पर कृषि यंत्र उपलब्ध हैं। किसान खेत में पराली कतई न जलाएं, इससे पर्यावरण को नुकसान होता है। साग-सब्जी, फल-फूल की खेती कर आमदानी बढ़ाएं। प्रधानमंत्री सम्मान निधि का पैसा सभी किसानों को मिलेगा। त्रुटियों सुधार किया जा रहा है। लाक डाटा जल्द खुलेगा। पिछले साल प्रदेश में 604 मीट्रिक टन खरीफ का उत्पादन था, जो 56 लाख मीट्रिक टन अधिक रहा। 21 फीसद रिकार्ड उत्पादन बढ़ा। किसान मधुमक्खी, मत्स्य, पशुपालन भी करें। किसान विजय पाल सिंह, अरविद कुमार ने मंत्री को फसल उत्पादन में आ रही समस्या बताई। भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील सिंह, यशकांत सिंह, राजेंद्रनाथ तिवारी, जवाहरलाल मिश्र ने स्वागत किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस