बस्ती: सरयू नदी के घटने का सिलसिला जारी है,जलस्तर घटने से माझा क्षेत्र में कटान से लोग परेशान हैं। बुधवार को भी जलस्तर खतरे के निशान 92.73 से 53 सेमी नीचे 92.20 मीटर प्रवाहित हो रही है। आधा मीटर से अधिक जलस्तर नीचे जाने के बाद भी कटान थमने का नाम नहीं ले रही है। अति संवेदनशील तटबंध कटरिया-चांदपुर पर दबाव बढ़ता जा रहा है। नदी सुबह से खलवा गांव के पास बने नवनिर्मित ठोकरों पर दबाव बनाए हुए है। बोल्डर से बनाए गए नोज धीरे-धीरे बैठा रहा है। खजांचीपुर के पास खाली जमीनों को नदी तेजी से काट रही है। ठोकरों और तटबंध पर कई जगहों पर बाढ़ खंड मजदूरों को लगाकर मरम्मत का कार्य करया जा रहा है। माझा की नम पड़ी जमीन सरयू लगातार तेजी काट रही है। जिससे किसानों की कृषि योग्य जमीन नदी कि धारा में समा रही है। दिलासपुरा व टकटवा गांव के बीच कटान बंद होने का नाम ही नहीं ले रही है। देवारागंगबरार गांव में भी कटान हो रही है। विक्रमजोत संवाददाता के अनुसार तटबंध विहीन गांवों में लगातार कटान हो रही है। जिससे ग्रामीणों में दहशत बनी हुई है। तटवर्ती गांवों की आबादी व खेती की जमीन लगातार नदी की धारा में समा रही है। जैसे-जैसे पानी नीचे जा रही है नदी का का तटीय भाग लगातार कट रहा है। आबादी की जमीन लगातार पानी में समाने के कारण लोगों को अपने घरों की सुरक्षा को लेकर ¨चता बढ़ गई है। कुदरहा संवाददाता के अनुसार कलवारी-रामपुर तटबंध पर दबाव काफी कम हो गया है। कहीं भी कटान नहीं हुई।

Posted By: Jagran