बस्ती : नकल माफिया ने यूपी बोर्ड परीक्षा के शुचिता की हवा निकाल दी है। विभाग शासन के नकल रोकने की अत्याधुनिक तैयारी पर पीठ थपथपाता रह गया। विभागीय अफसरों को कोई गड़बड़ी नहीं मिली। अफसर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेमप्रकाश मीणा ने एक परीक्षा केंद्र पर बुधवार को सामूहिक नकल पकड़ी।

माध्यमिक शिक्षा विभाग लाइव निगरानी, सचल दल का गठन, सीसीटीवी कैमरे की नजर जैसी व्यवस्था की आड़ में नकलविहीन परीक्षा का दावा कर रहा है। सातवें दिन की ही परीक्षा में श्रीराम पियारे चौधरी इंटर कालेज रेहरवा में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने परीक्षार्थियों को सामूहिक नकल करते हुए पकड़ा। नकल माफिया द्वारा शुल्क लेकर केंद्र से अन्यत्र उत्तर पुस्तिकाएं भी तैयार कराई जाती है।

----------------------------

कंट्रोल रूम में नहीं हो रही लाइव निगरानी

अत्याधुनिक कंट्रोल रूम भी सिर्फ दिखावा बनकर रह गया है। यहां केंद्रवार निगरानी करने के लिए जिम्मेदार नहीं रहते हैं। कुछ विभागीय आपरेटरों के हवाले कंट्रोल रूम छोड़ दिया गया है। विभागीय जिम्मेदार मौके पर भी धर पकड़ करने में असफल है।

---------------------

नकलविहीन परीक्षा कराने के सख्त निर्देश है। सिस्टम भी ऐसा बना है कि नकल कराने पर पकड़ में आ जाएगा। फिलहाल सुनियोजित नकल की सूचना कहीं से नहीं मिली है।

डा. बृजभूषण मौर्य, डीआइओएस।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस