बस्ती: बस्ती के एक खनन पट्टेदार के डिफाल्टर होने के कारण राज्य सरकार को होने वाले राजस्व क्षति को देखते हुए डीएम ने पट्टाधारक नबी हुसैन आदिफा कांस्ट्रक्शन का पट्टा निरस्त कर फर्म को काली सूची में डाल दिया है। जिलाधिकारी ने बताया कि बालू खनन क्षेत्र बरदिया लोहार का पांच वर्षीय खनन पट्टा आदिफा कांस्ट्रक्शन एंड प्रापर्टी के नबी हुसैन निवासी डफाली टोल पुरानी बस्ती को दिया गया था। प्रत्येक वर्ष 125860 घन मीटर 4.92 करोड़ वार्षिक पट्टा धनराशि 19 जनवरी 2018 को स्वीकृत किया गया। पट्टा स्वीकृति से पूर्व 25 फीसद प्रथम किस्त 25 फीसद प्रतिभूति की धनराशि अर्थात कुल 50 फीसद 2.46 करोड़ जमा किया गया। पट्टा धारक द्वारा डीएमएफ 24.60 लाख एवं देय टीसीएस भी जमा किया गया। अनुबंध के उपरांत खनन कार्य प्रारंभ किया गया। कतिपय शिकायतों के क्रम में तत्कालीन खान अधिकारी व उपजिलाधिकारी हर्रैया की आख्या के क्रम में स्वीकृत क्षेत्र से बाहर 1050 घन मीटर अवैध खनन पाया गया। इसके लिए 33.98 लाख रुपये आरोपित करते हुए जमा करने की नोटिस दी गई। तमाम नोटिस जारी होने के बाद पट्टाधारक ने इसे जमा नहीं किया। द्वितीय किस्त की धनराशि भी नहीं जमा की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस