जागरण संवाददाता, बभनान : प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार के तमाम जन कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से अनुसूचित जनजाति को विकास की मुख्य धारा में लाने का काम किया गया है। जिसके चलते निचले तबके के लोगों को तमाम योजनाओं का लाभ मिल रहा है। घर से ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीधे शिकायत कर काम का निस्तारण करा रहे हैं। उक्त बातें भाजपा के प्रदेश अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय गौड़ ने बभनान में कहीं। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में अनुसूचित जाति के लोग भाजपा का साथ देकर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने का काम करने का मन बना लिया। अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष जतिन गौड़, विधानसभा प्रभारी दिलीप चतुर्वेदी, सुखराम गौड़, प्रबल मालानी ने लोगों को भाजपा की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। फागु गौड़, निर्मोही गौड़, अमरजीत गौड़, बनवारी लाल, रामेश्वर, श्याम बहादुर सिंह सुखदेव, तुलसीराम, अमरदीप, प्रदीप गौड़, अजय गौड़ आदि रहे। पूर्व मंत्री सहित 35 पर कोविड प्रोटोकाल के उल्लंघन का मुकदमा जागरण संवाददाता, बस्ती: पूर्व कैबिनेट मंत्री व बसपा नेता राजकिशोर सिंह समेत 35 लोगों पर परशुरामपुर पुलिस ने कोविड-19 प्रोटोकाल और आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है।

विधानसभा चुनाव में आदर्श आचार संहिता का अनुपालन कराने के लिए गठित फ्लाइंग स्क्वायड टीम (एफएसटी) हर्रैया के प्रभारी अनिल कुमार चौरसिया ने शनिवार को परशुरामपुर पुलिस को तहरीर दी थी। इसमें बताया गया था कि पूर्व कैबिनेट मंत्री राजकिशोर सिंह परशुरामपुर थाना क्षेत्र के गोपीनाथपुर में शनिवार की देर शाम अपने काफिले के साथ एक समर्थक दिनेश कुमार वर्मा के घर गए थे। उनके साथ 30-35 समर्थक भी थे। किसी ने न तो मास्क लगा रखा था न ही फिजिकल डिस्टेंसिग का ध्यान रखा गया, जबकि जिले में धारा 144 लागू है और सभी को कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करना भी है। ऐसे में सभी ने कोविड-19 प्रोटोकाल के साथ ही धारा 144 का भी उल्लंघन किया। प्रभारी निरीक्षक आलोक सोनी ने बताया कि राजकिशोर सिंह, दिनेश कुमार वर्मा व 33 अन्य अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

Edited By: Jagran