जागरण संवाददाता, छावनी,बस्ती : छावनी पुलिस ने वध के लिए ले जाए जा रहे 22 गोवंशीय पशुओं को बरामद किया गया। इन्हें ट्रक पर लादकर ले जाया जा रहा था। मौके से पांच तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में सामने आया कि वे पशुओं को वाल्टरगंज थानांतर्गत जमदाशाही निवासी ठीकेदार रोजन को बेच देते थे। उसकी धरपकड़ का प्रयास पुलिस ने शुरू कर दिया है।

थानाध्यक्ष छावनी रोहित कुमार उपाध्याय ने बताया कि शनिवार की रात छावनी से बीड़ी बांध के ठोकर नंबर 10 जाने वाले मार्ग पर टीम के साथ गस्त कर रहे थे। तभी गुंडाकुंवर गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के बगल झाड़ में टार्च की रोशनी आ रही थी और कुछ पशुओं की आवाज सुनाई दी। पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो यहां मौजूद लोग भागने लगे। टीम ने घेराबंदी कर मौके से पांच आरोपितों को पकड़ लिया। उनकी निशानदेही पर गोवंशीय पशुओं को लादने के लिए खड़ा ट्रक व 22 गोवंशीय पशुओं को बरामद कर लिया गया।

पुलिस के अनुसार आरोपितों की पहचान आनंद कुमार निवासी पूरेनाथू, फूलचंद सिंह निवासी गुंडाकुंवर, रामसूरत भूडोल व भरत निवासी तुर्सी थाना छावनी के रूप में हुई। पूछताछ में पकड़े गए आरोपितों ने बताया कि ये सभी बेसहारा बछड़ा, सांड़ व गाय को पकड़कर वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के जमदाशाही के ठीकेदार को वध के लिए बेच देते थे। पुलिस ने गो हत्या निवारण अधिनियम, पशु क्रूरता अधिनियम सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। बरामद गोवंशीय पशुओं को आश्रय स्थल भेज दिया गया है।

एसएसआइ श्याम मोहन त्रिपाठी, एसआई दुर्विजय सिंह, आरक्षी शम्भू यादव, संजीव शाह, दीपक यादव, नीलेश पांडेय, राम कृपाल यादव मौजूद रहे।

Edited By: Jagran