बरेली, जेएनएन।Grain based distillery in UP : पीलीभीत जनपद की तहसील अमरिया के ग्राम कटैय्या पंड़री में अनाज आधारित उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी डिस्टलरी स्थापित की जाएगी। करीब छह करोड रुपये की लागत से बनने वाली डिस्टलरी के अगले साल अक्टूबर में संचालित होने की संभावना जताई जा रही है। ऐथनॉल के उत्पादन से संबंधित फैक्ट्री स्थापित करने में आ रही समस्या के सम्बन्ध में मां शीतला डिस्टीलरी बेवरीज कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक नवनीत अग्रवाल ने बुधवार को जिलाधिकारी पुलकित खरे से मुलाकात की। समस्या का संज्ञान लेते हुये जिलाधिकारी द्वारा तत्काल निस्तारित कराया गया।

प्रबन्ध निदेशक नवनीत अग्रवाल ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि कंपनी की ओर से डिस्टलरी की स्थापना से सम्बन्धित समस्त लाइसेंस व प्रक्रिया पूर्ण करा ली गई। फैक्ट्री की स्थापना छह करोड़ रुपये की लागत से किया जायेगा । अक्टूबर में फैक्ट्री की स्थापना का कार्य प्रारम्भ किया जायेगा। 12 माह के अन्दर समस्त कार्य पूर्ण करते हुये फैक्ट्री का संचालन अक्टूबर 2022 में प्रारम्भ कर दिया जायेगा। उनके द्वारा अवगत कराया गया कि अनाज से ऐथानॉल उत्पादन से सम्बन्धित प्रदेश की सबसे बड़ी आसवनी इकाई होगी।

उन्होंने यह भी अवगत कराया कि मांं शीतला डिस्टीलरी बेवरीज द्वारा प्राज टैक्नोलोजी पर आधारित फैक्ट्री स्थापित की जायेगी। जिसमें अनाज से एथानॉल का उत्पादन किया जायेगा। साथ ही साथ पशुओं हेतु पशु आहार का भी उत्पादन किया जायेगा। प्रतिदिन तीन लाख लीटर ऐथानॉल व ईएनएन का उत्पादन किया जायेगा। जिससे अंग्रेजी व देशी शराब का भी उत्पादन किया जायेगा।

इसकी स्थापना से स्थानीय कम से कम एक हजार लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। फैक्ट्री की स्थापना से उप्र सरकार को लगभग एक करोड़ का टैक्स विभिन्न मदों से प्राप्त होगा। फैक्ट्री का भूमि पूजन अक्टूबर माह में किया जायेगा फैक्ट्री की स्थापना से अनाज उत्पादकों व राइस मिलर्स को भी लाभ प्रदान होगा। इस दौरान ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नूपुर गोयल, फैक्ट्री के प्रोजेक्ट इंचार्ज बोरीलाल सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Samanvay Pandey