बरेली, जेएनएन। UP 112 News :  शाहजहांपुर में तांत्रिक के बहकावे में आकर परिजनों ने गर्भवती महिला की जान खतरे में डाल दी।जिसके बाद उसकी हालत बिगड़ गई। जिसके बाद पीआरवी की मदद से महिला का प्रसव सड़क पर ही कराया गया। इसके साथ ही पीआरवी ने एंबुलेंस न आने के चलते महिला और नवजा को अस्पताल में भर्ती कराया।

मामला जलालाबाद थाना क्षेत्र के एक गांव का है। जहां रहने वाली महिला की चार बेटियां है।बेटे की चाहत में महिला के पति ने एक तांत्रिक से संपर्क साधा।तो उसने सलाह दी कि यदि स्थान बदलकर प्रसव कराया जाए तो बेटा होगा।ऐसे में महिला का पति परिवार समेत पीलीभीत जिले के बरखेड़ा थाना क्षेत्र अपनी ससुराल जाने के लिए ई-रिक्शा से रोडवेज बस स्टैंड जा रहा था।

रोडवेज रेलवे क्रासिंग के पास ई-रिक्शा से उतरकर जब रेलवे क्रासिंग पार करने लगी तो महिला के प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। ऐसे में स्वजन ने महिला को सड़क किनारे बैठा दिया।संपर्क करने पर पीआरवी 1344 मौके पर पहुंची। कांस्टेबल बिटू पुष्कर ने महिला की सास की मदद से सड़क पर ही सुरक्षित प्रसव कराया। महिला ने बेटी को जन्म दिया। इसके बाद दोनों को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए 102 एंबुलेंस पर संपर्क किया तो हड़ताल की वजह से मना कर दिया गया। ऐसे में पीआरवी से ही दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

महिला के प्रसव पीड़ा होने की सूचना मिली थी। पीआरवी की महिला सिपाही ने स्वजन के साथ मिलकर सुरक्षित प्रसव करा दिया। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

संजय कुमार, एएसपी सिटी 

Edited By: Ravi Mishra