जेएनएन, बरेली : रुहेलखंड के युवाओं और किसानों के लिए खुशखबरी है। क्षेत्र में कृषि महाविद्यालय खोला जाएगा। इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है जोकि जल्द केंद्रीय कृषि मंत्री को सौंपा जाएगा। यह कवायद केंद्रीय मंत्री श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और सांसद संतोष गंगवार ने शुरू की है।

बरेली कॉलेज के आडिटोरियम में राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) प्रथम इकाई और मत्स्य विभाग की ओर से मछली पालन व उद्यमिता पर आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में उन्होंने इस बात का भरोसा दिया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बरेली में इंजीनियरिंग, मेडिकल के कई निजी संस्थान हो चुके हैं। अब यहां कृषि शिक्षा को बढ़ावा देने की जरूरत है। भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आइवीआरआइ) डीम्ड विश्वविद्यालय है। ऐसे में इसी के अधीन कृषि महाविद्यालय का संचालन करने का प्रस्ताव है।

उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए मछली पालन को एक अच्छा स्वरोजगार बताया। कहा कि इस ओर लोगों को अपने कदम बढ़ाने चाहिए। छात्रों की भीड़ देखकर वह उत्साहित हुए। कहा कि अच्छा लगा कि इतनी बड़ी संख्या में लोग मछली पालन के स्वरोजगार के बारे में जानना चाहते हैं। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में दिल्ली के विशेषज्ञों को भेजेंगे ताकि युवा इस क्षेत्र की अधिक जानकारी हासिल कर सकें। इस दौरान प्राचार्य डॉ. अनुराग मोहन ने अतिथियों का स्वागत किया।  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप