जागरण संवाददाता, बरेली : विशारतगंज रेलवे स्टेशन के ट्रैक से 40 मिनट में 77 पेंड्रोल क्लिप खोलने के मामले की जांच में गुरुवार को एटीएस भी जुट गई है। टीम ने जंक्शन पर आरपीएफ इंस्पेक्टर टीपी सिंह और जीआरपी इंस्पेक्टर नित्यानंद सिंह से मामले की जानकारी ली। शक जताया कि स्मैक का नशा करने वाले भी ऐसा कर सकते हैं मगर एटीएस टीम ने खारिज कर दिया। कहा कि स्मैकिए पेंड्रोल क्लिप खोलकर ले जाते। उन्हें टै्रक के पस झाड़ियों में डालना, बड़ी घटना को अंजाम देने की साजिश है।

बुधवार सुबह को जब पेंड्रोल क्लिप खोले गए, उसके कुछ देर बाद ही वहां से डुप्लीकेट एक्सप्रेस गुजरनी थी। गनीमत थी कि ट्रेन आने से पहले कीमैन इजराइल खां ने ट्रैक देख लिया। ट्रेन रुकवा दी गई।

पुलिस और खुफिया टीम मामले की जांच में जुटी थी, अब एटीएस भी लग गई। हालांकि अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है।

उधर, रेलवे की इंजीनिय¨रग टीम ने गुरुवार सुबह से देर शाम तक आंवला स्टेशन से रामगंगा स्टेशन तक ट्रैक का निरीक्षण किया। इसमें ट्रैक के पेंड्रोल क्लिप दुरुस्त किए गए।

ट्रैक की बढ़ी गश्त

इंस्पेक्टर टीपी सिंह ने बताया, जंक्शन से सीबीगंज, मीरानपुर कटरा और आंवला तक ट्रैक की निगरानी शुरू कर दी गई है। सादा वर्दी में भी ट्रैक पर निगाह रखी जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस