जेएनएन, बरेली: सुभाष नगर थाने में एक युवक इंस्पेक्टर को उनके स्टाफ के सामने ही हड़काकर चला गया। इंस्पेक्टर से बोला- बताओ दूसरी पार्टी से कितने रुपये लिए हैं, हम से ले लेते। इंस्पेक्टर ने भी जवाब दिया। हालांकि इंस्पेक्टर और युवक के बीच थाने में हुई नोकझोंक महकमे में चर्चा का विषय बनी हुई है।

इंस्पेक्टर सुभाष नगर जगनारायण पाण्डेय थाना परिसर में बैठे थे। इसी दौरान दो युवक आए। दरअसल सुभाष नगर के रौंधी गांव में खनन को लेकर चार-पांच दिन पहले दो पक्षों में विवाद हुआ था। इसमें प्रधान के खिलाफ सुभाष नगर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बाद आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं की। मंगलवार को वादी पक्ष थाने आया। युवक ने इंस्पेक्टर से कहा कि आरोपित गांव में खुलेआम घूम रहे हैं। पुलिस ने आज तक दबिश नहीं दी। इंस्पेक्टर का कहना था कि दबिश दी गई है। किसी को गांव में जाने से कैसे रोक सकते हैं। पकड़ कर जेल भेज देंगे। जमानत पर आएगा तब भी तो गांव में ही रहेगा। साथ ही इंस्पेक्टर ने कहा कि उन्होंने गांव जाकर जांच की थी। कहीं असलहे नहीं निकले और न फाय¨रग हुई।

इतना सुनते ही वादी पक्ष का युवक भड़क उठा। कुर्सी से उठते ही बोला- मैं तो मुकदमा ही नहीं लिखाना चाह रहा था। अब देखना मारकर लाश कंधे पर डालकर थाने लेकर आऊंगा। फिर इंस्पेक्टर से बोला, 'बताओ कितने रुपये लिए गिरफ्तार न करने के..? हमसे मांग लेते हम दे देते..।'

इंस्पेक्टर ने भी अपने अंदाज में जवाब दिया लेकिन थाने में युवक इंस्पेक्टर पर भारी पड़ा। तेज आवाज में हो रही बातचीत सुन अंदर से पूरा स्टाफ निकल आया। इसके बाद भी पुलिसकर्मियों को खरी-खोटी सुनाते हुए दोनों युवक थाने से चले गए। इंस्पेक्टर और युवक के बीच थाने में हुई नोकझोंक की चर्चा आम हो गई।

इंस्पेक्टर का कहना है कि जांच में फाय¨रग और असलाह होना नहीं पाया गया। जांच की जा रही है जो सही होगा वहीं किया जाएगा। पुलिस किसी के दवाब में काम नहीं करेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप