बरेली, जेएनएन। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और इस समय प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता वीरपाल सिंह यादव को उन्हीं के भतीजे चुनौती देने के लिए तैयार खड़े हैं। जिस विधानसभा सीट पर वीरपाल सिंह चुनाव लड़ चुके और फिर तैयारी में हैं, उस पर भतीजे आदेश यादव उर्फ गुड्डू ने सपा से टिकट मांगा है। बीते दिनों लखनऊ जाकर आवेदन भी कर आए। टिकट पर फैसला आने में लंबा वक्त है। कई आवेदनों के बीच पार्टी नेतृत्व फैसला करेगा, मगर उनके आवेदन के बीच सियासी चर्चाएं तेज हो गईं।

सपा जिलाध्यक्ष के पद पर 26 साल रहे काबिज 

पूर्व राज्य सभा सदस्य वीरपाल सिंह यादव का समाजवादी पार्टी में अच्छा रसूख रहा था। चार अक्टूबर 1992 को पार्टी के गठन के बाद से ही वह करीब 26 वर्ष जिलाध्यक्ष बने रहे हैं। वर्ष 2002 में सन्हा विधानसभा सीट (अब बिथरीचैनपुर) से उन्होंने चुनाव लड़ा। करीब एक हजार वोटों से हार हुई। वर्ष 2017 के चुनाव में 76, 886 वोट मिले।

हारे चुनाव, ज्वाइन की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी 

चुनाव हार गए, इसके बाद सपा टूटी तो प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया में चले गए। मौजूदा समय में प्रदेश महासचिव हैं। उनके भतीजे आदेश सिंह यादव उर्फ गुड्डू सपा में ही बने रहे। दोनों के बीच तभी से दूरी दिखने लगी थी। यह बात अलग है कि आदेश जब पहली बार ब्लाक प्रमुख बने थे, तब वीरपाल सिंह उनके लिए सियासी जमीन बनाने में लगे थे।

वीरपाल बोले, हमें फर्क नहीं पड़ता

वीरपाल सिंह यादव बिथरी क्षेत्र में सक्रिय हैं। उनका कहना है कि हमें आगामी विधानसभा चुनाव लड़ना है। ऐसे में फिर सामने दूसरी पार्टी से कोई भी हो हमें फर्क नहीं पड़ता।

मुस्लिम और यादव वोट मुख्य वजह

बिथरीचैनपुर विधानसभा सीट में करीब चार लाख 15 हजार वोट हैं। इनमें मुस्लिम वोटों की संख्या करीब एक लाख तीस हजार हैं। करीब 35 हजार यादव वोट भी है।

टिकट के लिए कई ने की दावेदारी 

सपा से टिकट के लिए अलग सीटों से कई आवेदन हो चुके हैं। इन्हीं में आदेश यादव का भी शामिल है। टिकट पर फैसला आने वाले वक्त में होगा। आदेश का कहना है कि मैंने बिथरी से आवेदन कर दिया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021