बरेली, जेएनएन : हर सांस ख्वाहिश और जिम्मेदारी के वजन से दबी है। हसरतों का बोझ लिए इंसान दिन-रात काम में मगन है। नतीजा सामने है। बुढ़ापा छोडि़ए, जवानी में दिल का दौरा और डायबिटीज का मर्ज पलने लगा है। करीब डेढ़ साल पहले साई स्टेडियम में एक खिलाड़ी की अभ्यास के दौरान हार्टअटैक से मौत हो गई थी।

डॉक्टर बताते हैं कि अनियमित दिनचर्या और सेहत की अनदेखी से घबराहट, तनाव, अटैक, शुगर, ब्लड प्रेशर, पेट और मानसिक बीमारियां शरीर को जकड़ लेती हैं। बचाव के लिए वे नियमित व्यायाम, शारीरिक श्रम, सुबह-शाम पैदल टहलने, योग की सलाह देते हैं।

फिटनेस की चिंता देशव्यापी हो चुकी है। शायद यही कारण है कि गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'फिट इंडिया अभियान' का आगाज किया। दिलचस्प बात यह है कि प्रधानमंत्री के फिटनेस की फिक्र बुजुर्ग बखूबी समझते हैं। कोई जिमखाने में पसीना बहाते, कोई मीलों पैदल चलते। उनकी यह दिनचर्या उन युवाओं के लिए प्रेरणा है जो अपनी सेहत के लिए वक्त नहीं निकाल पाते हैं।

भरपेट खाना नहीं खाते तलत

खाने-पीने के लिए इंसान क्या जतन नहीं करता। मगर सिविल लाइंस के तलत मिर्जा कभी भरपेट खाना नहीं खाते हैं, इस आरजू में ज्यादा खाना उन्हें अनफिट न कर दे। खाने-पीने के समय तक का प्लान बना रखा है। तय समय पर ही खाते हैं। जंक फूड-कोल्ड ड्रिंक्स, मीठी चाय से तौबा कर रखी है। सुबह को भीगे मेथी के दाने लेते। बताते हैं कि इससे बीपी कंट्रोल रहता। ड्राई और ताजे फ्रूट का सेवन करते हैं।

80 साल के कर्नल करते कसरत

पूर्व कर्नल सीपीएस राठौर करीब 80 साल के हैं। रोजाना सुबह-शाम छह से सात किलोमीटर पैदल चलते हैं। दोनों पहर कसरत भी करते। सेहत को लेकर उनकी सजगता का परिणाम यह है कि वह पूरी तरह से फिट हैं। शरीर बीमारियों से आजाद है। हालांकि अब उन्हें हल्के शुगर की शिकायत है। जिसे व्यायाम और खान-पान पर नियंत्रण करके कंट्रोल में रखते हैं।

सेहत के लिए साईकिल की सवारी

राजेंद्रनगर के संजीव जिंदल की उम्र करीब 51 साल है। तंदरुस्त रहने के लिए वह साइकिल की सवारी करते हैं। उनके पास महंगी साईकिलें है। जिससे वह लंबी यात्राएं करते हैं। इसके साथ ही अब वह समाज को स्कूल, कॉलेजों में जाकर युवाओं को फिटनेस के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

जिम से थमा थायराइड

पंद्रह साल पहले बड़ी बमनपुरी की सपना सक्सेना को थायराइड की शिकायत हुई। उनका वजन तेजी से बढ़ रहा था। इससे राहत के लिए उन्होंने व्यायाम शुरू किया। अब उनकी उम्र करीब 50 साल हो चुकी है। पहले से दस किलो वजन कम है। डायराइड की शिकायत भी दूर हो गई।  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप