जेएनएन, बरेली: चौकी चौराहा मस्जिद के बाहर सड़क पर नमाज पढऩे को लेकर इस शुक्रवार भी विवाद हो गया। तीन घंटे खींचतान चलती रही। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी पहले ही तय कर चुके कि सड़क पर नमाज नहीं पढऩे दी जाएगी। इसके बावजूद कोशिश हुई। तनातनी बढऩे लगी तो अफसरों ने भी कई थानों का फोर्स बुला लिया। बाद में महज दो चटाई डालकर कुछ लोगों ने मस्जिद के बाहर बैठकर नमाज पढ़ी। हालांकि इस दौरान यातायात पर फर्क नहीं पड़ा।  

चौकी चौराहा स्थित मस्जिद के सामने सड़क पर नमाज पढऩे को लेकर कुछ लोगों ने आपत्ति जताई थी। यातायात बाधित होने की जानकारी देते हुए आला अफसरों तक शिकायत की। जिसके बाद पिछले शुक्रवार को पुलिस एवं प्रशासनिक अफसरों ने वहां पहुंचकर सड़क घेरने से मना किया।

तब भी तनातनी हुई, हालांकि बाद में बातचीत के बाद अफसरों ने कहा कि पहले मस्जिद के अंदर पूरी जगह भर जाए, इसके बाद आगे की बात की जाएगी। दूसरी मस्जिदों में भी लोग जा सकते हैं। एक लाइन भी खींच दी, जिससे आगे सड़क बाधित न की जाए। 

पिछले शुक्रवार को हुई यह सारी कवायद इस बार फिर ठिकाने लगते दिखी। इसका आभास अफसरों को भी था, इसलिए वे भी सुबह होते ही चौकी चौराहा स्थित पुलिस चौकी में जाकर बैठ गए। सीओ, इंस्पेक्टर ने मस्जिद के इमाम व मुतवल्ली को बुलाकर कह दिया कि सड़क पर चटाई न बिछाएं। 

चटाइयां बिछाईं तो पुलिस ने तुरंत हटाईं 

दोपहर डेढ़ बजे नमाज के लिए मस्जिद के बाहर सड़क पर चटाइयां बिछाना शुरू कर दी। पुलिस ने उन्हें तुरंत हटवा दिया। जानकारी पर आला हजरत दरगाह से कुछ लोग बातचीत को भेजे गए। वहां मौजूद लोगों का कहना था कि वे काफी समय से ऐसे ही नमाज पढ़ते आ रहे हैं। पुलिस बेवजह बात बढ़ा रही। दूसरी ओर पुलिस अफसरों ने दो टूक कह दिया कि किसी भी हाल में सड़क पर नमाज नहीं पढऩे दी जाएगी।

इस पर दोनों पक्षों में बहस बढ़ती गई। आला हजरत दरगाह से कुछ लोग कोतवाली इंस्पेक्टर पंकज वर्मा के पास पहुंचे। उनसे बात की मगर उन्हें साफ मना कर दिया कि सड़क नहीं घेरने देंगे। रास्ता बंद नहीं होगा। विवाद बढऩे पर कई थानों का फोर्स बुलवा लिया गया। जानकारी हुई तो एसपी सिटी अभिनंदन सिंह चौकी चौराहे पर पहुंच गए। 

पहले ही सब तय हो गया तो विवाद क्यों 

सभी लोगों को चौकी चौराहा पुलिस चौकी में बैठाया गया। नासिर कुरैशी, नदीम खां, शाहिद नूरी, डा. नफीस आदि से बातचीत शुरू हुई। एसपी सिटी का कहना था कि जब पहले ही तय हो चुका है कि सड़क पर बैठकर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी तो फिर विवाद की स्थिति क्यों पैदा की गई। उन्होंने इस बात पर भी नाराजगी जताई कि यह अफवाह उड़ाई जा रही है कि पुलिस नमाज नहीं पढऩे दे रही।

एसपी सिटी का कहना था नमाज अंदर मस्जिद में बैठकर पढ़ें, पुलिस को कोई आपत्ति नहीं है। बातचीत के दौरान एक बार फिर तय हुआ कि बाहर महज दो चटाई ही पड़ेंगी। तीसरी चटाई नहीं पड़ेगी। रास्ते पर बैठकर नमाज नहीं पढऩे दी जाएगी, रास्ता बंद नहीं होगा। इसके बाद शाम साढ़े चार बजे नमाज पढ़ी गई। 

दोनों पक्षों में हुई बहस

दरगाह से आए नासिर कुरैशी ने बताया कि वे लोग शांतिपूर्ण ढंग से नमाज अदा कराने आए थे। रास्ता बाधित नहीं होगा और नमाज भी पढ़ ली जाएगी। लेकिन इंस्पेक्टर कोतवाली पंकज वर्मा ने कह दिया कि सड़क पर नमाज नहीं पढऩे दी जाएगी। इसी बात को लेकर दोनों में बहस हुई। बाद में एसपी सिटी ने बाहर दो चटाइयां पडऩे की बात कही। 

मस्जिद के बाहर महज दो चटाई पड़ेंगी। यह बात इमाम व मुतवल्ली को बता दी गई है। इस पर उन्होंने सहमति भी जता दी है। अगर किसी ने लॉ एंड आर्डर बिगाड़ा तो कार्रवाई की जाएगी।- अभिनंदन सिंह, एसपी सिटी। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021