जेएनएन, बरेली : कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय बिथरी चैनपुर में रविवार रात खाना खाते ही छह छात्राओं की हालत बिगड़ गई। इससे आवासीय विद्यालय की छात्राओं में अफरा-तफरी मच गई। वार्डन ने छात्रओं को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पांच छात्रओं की छुट्टी हो गई, लेकिन एक छात्रा की हालत गंभीर बनी हुई है। बीमार छात्राअों का कहना है कि उन्हें गणतंत्र दिवस के लड्डू खराब लग रहे थे। 

खिचड़ी खाने के बाद बिगड़ी थी हालत : कस्तूरबा विद्यालय बिथरी चैनपुर में गणतंत्र दिवस की रात छात्राओं को खाने में उड़द दाल की खिचड़ी दी गई थी। कुछ देर बाद अर्चना, सोनी, नीतू, शीतल, काजल समेत छह छात्रओं को अचानक उल्टी होना शुरू हो गई। वार्डन अनीता ने छात्राओं को प्राथमिक उपचार दिया लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। इसके बाद रात 11 बजे एंबुलेंस के जरिए छात्रओं को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

टेबलेट देने केे बाद भी नही मिला था आराम : इलाज के बाद सोनी, नीतू, शीतल, काजल को घर भेज दिया गया। वहीं, अर्चना सिंह पुत्री दरिया सिंह की हालत गंभीर बनी हुई है। छात्रा अर्चना ने बताया कि रात में खिचड़ी खाने के बाद उल्टी होने लगी तो मैडम ने टेबलेट दी, लेकिन पेट के दर्द में आराम नहीं मिला। आराम न होने पर उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा।

...तो गणतंत्र दिवस पर विद्यालय में बांटे खराब लड्डू : छात्राओं ने बताया कि गणतंत्र दिवस समारोह के बाद दिए गए लड्डू भी खराब लग रहे थे। इसके बाद दोपहर में पूड़ी कचौड़ी खाई थी। उन्हीं से तबीयत खराब हो गई। दरिया सिंह ने बताया कि स्कूल में अक्सर ही खराब खाना दिया जाता है। तमाम छात्रओं के परिजन शिकायत कर चुके हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की जाती।

खाना खाने से किसी छात्र की तबीयत खराब नहीं हुई, उनकी तबीयत पहले से खराब थी। -अनीता, वार्डन

छात्राओं की देखरेख में लापरवाही की गई है। मामले की जांच की जाएगी। दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी। - तनुजा त्रिपाठी, बीएसए 

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस