पीलीभीत, जेएनएन। टाइगर रिजर्व के जंगल से शिकारियों ने पाड़ा का शिकार कर उसका मांस गायब कर दिया। जबकि उसकी खाल को केले के खेत में छिपा दिया। मुखबिर की सूचना पर वन विभाग की टीम ने खाल को बरामद कर लिया। साथ ही तीन लोगों को हिरासत में ले लिया है। इस मामले में आठ आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।कोरोना वायरस को लेकर अधिकारी लोगों को जागरूक कर रहे हैं। इस बीच शिकारियों की नजर पीलीभीत टाइगर रिजर्व के वन्यजीवों पर पड़ गई है। मौका मिलते ही वह वन्यजीवों का शिकार कर रहे हैं। पीलीभीत टाइगर रिजर्व की बराही रेंज के दारोगा रघुवीर ङ्क्षसह रावत को सोमवार को कंपार्टमेंट नंबर तीन में गश्त के दौरान मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि महाराजपुर के एक खेत में वन्यजीव की खाल को दबा दिया गया है। सूचना पर वह मौके पर पहुंचे और खाल को बरामद कर लिया। खाल मादा पाड़ा की निकली। वन दरोगा ने बताया कि महाराजपुर निवासी मनोज सरकार, रोमन सरकार, पच्चू मंडल और उसके पांच अन्य साथियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। तीनों आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया है। जिनको जेल भेजे जाने की कार्रवाई की जा रही है। बरामद खाल को कब्जे में ले लिया गया है। 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस