बरेली, जेएनएन। Shahjahanpur Akhilesh Gupta Family Suicide Case Update :दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता के मकान की रजिस्ट्री उनके पिता के नाम कराने को लेकर प्रशासन ने हाथ खड़े कर दिए है। इसके अलावा जनप्रतिनिधि में भी अब अपना वादा भूलते नजर आ रहे है। ऐसे में पीड़ित परिवार सीधे अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाएगा।

शहर के कच्चा कटरा मुहल्ला निवासी दवा व्यापारी अखिलेश गुप्ता, उनकी पत्नी रेशू गुप्ता व दो बच्चों ने सूदखोर से प्रताड़ित होकर सात जून को आत्महत्या कर ली थी। सूदखोर ने ब्याज के रुपये न मिलने पर उनके मकान की रजिस्ट्री करा ली थी। जिसे वापस कराने के लिए दवा व्यापारी के पिता डॉ. अशोक गुप्ता ने कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता, जिले के प्रभारी मंत्री कपिल देव अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना से पत्र देकर गुहार लगा चुके। मंत्रियों ने भी जल्द मकान को वापस दिलाने की बात कही। लेकिन उसके बाद वह अपना वादा भूल गए।

डीएम बोले- शासन स्तर से होना है प्रक्रिया

ऐसे में बीते दिनों व्यापारी नेता व पीड़ित परिवार डीएम इंद्र विक्रम सिंह से मिला था। उन्होंने यह प्रक्रिया शासन स्तर से होने की बात कही थी। हालांकि डीएम ने अन्य सभी समस्याओं का निस्तारण कराने का भरोसा दिया था। ऐसे में व्यापारी व पीड़ित परिवार मुख्यमंत्री को पत्र देकर न्याय की गुहार लगाएगा।

वायरल हुए आडियो को पुलिस जांच के लिए लखनऊ लैब भेजेगी। इसके अलावा इस प्रकरण में जिन व्यापारियों के नाम सामने आए थे उनसे भी जल्द पूछताछ करने की बात कह रही है।

 

Edited By: Ravi Mishra