मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, बरेली : लालफाटक पर ओवरब्रिज बनाने के लिए रेलवे का रास्ता बंद करना है। वैकल्पिक रास्ते तैयार करने के लिए तीस सितंबर तक का समय दिया गया मगर, फिलहाल इस मियाद पर संशय है। क्योंकि, अभी तो सिर्फ ड्राइंग भेजी गई है। जमीन लेकर सड़क बनाने का काम तो दूर की बात है। यह सारा काम होने और वैकल्पिक सड़क बनने में अक्टूबर तक का समय लग सकता है। दूसरी ओर रेलवे के अधिकारी भी अब कुछ नरम दिखाई दे रहे। कह रहे कि जब वैकल्पिक रास्ते बन जाएंगे तब ही काम शुरू किया जा सकता है।

रास्ता कौन बनाएगा, अभी पता नहीं

लालफाटक ओवरब्रिज बनाने के लिए वैकल्पिक मार्ग कौन सा विभाग बनाएगा, इसका पता सेतु निगम की ओर से भेजी ड्राइंग पर मुहर लगने के बाद चलेगा। सेतु निगम ने ड्राइंग तैयार कर गाजियाबाद मुख्यालय भेजी है। यहां से ‘ओके’ रिपोर्ट आने का इंतजार है। प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक ड्राइंग पर मुहर लगने के बाद तय किया जाएगा कि वैकल्पिक रास्ता बनाने का काम किसी एक संस्था से करवाया जाए या फिर सभी विभाग संयुक्त रूप से सड़क बनाएंगे। वहीं, सड़क बनाने में लगने वाले खर्च (एस्टीमेट) को भी फाइनल किया जाएगा। फिलहाल मोटे तौर पर करीब 80 लाख रुपये खर्च आने की उम्मीद है। उधर, सेतु निगम अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग के पास भी ड्राइंग भेज दी गई है।

एसडीएम सदर ने की भू-स्वामियों से बात

एसडीएम सदर अमरेश कुमार शुक्रवार को लालफाटक ओवरब्रिज के वैकल्पिक मार्ग का स्थलीय निरीक्षण करने पहुंचे। मौके पर देखा कि सरकारी विभागों की जमीन ज्यादा है। इसमें पीडब्ल्यूडी और रेलवे की जमीन है। एक-दो लोगों की वैकल्पिक मार्ग पर करीब एक-दो मीटर जमीन है। इनसे मुलाकात हुई और वैकल्पिक मार्ग निर्माण के लिए अस्थाई रूप से जमीन लिखा-पढ़ी में देने को सहमत हुए। ऐसे में लीज पर जमीन लेने की व्यवस्था नहीं होगी।

सड़क शुरू होने के बाद स्थानांतरित होगा फाटक

रेलवे भी सड़क के लिए ड्राइंग तय होने का इंतजार कर रहा है। क्योंकि सड़क बननी शुरू होने के बाद ही रेलवे लालफाटक की दोनों रेलवे क्रॉसिंग को सड़क की दिशा में आगे बढ़ाएगा। इसके अलावा यह भी तय होना बाकी है कि रेलवे की जमीन पर वैकल्पिक रास्ता रेलवे को ही बनाना होगा या फिर यह काम लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम करेंगे। 

अखिलेश के दौरे में फंस गए एसपी ट्रैफिक
उधर, लालफाटक की तैयार ड्राइंग के हिसाब से निरीक्षण के लिए शुक्रवार को एसपी यातायात सुभाष चंद्र गंगवार को पहुंचना था। हालांकि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के जिले में आगमन की वजह से वह यातायात व्यवस्था में लगे रहे। इस वजह से शुक्रवार को लालफाटक पर नहीं जा पाए। अब शनिवार को फिर से मौके पर जाकर निरीक्षण होगा।

लालफाटक ओवरब्रिज निर्माण के लिए वैकल्पिक रास्ता का ड्राइंग सेतु निगम के मुख्यालय से फाइनल होकर आनी है। इसके बाद एस्टीमेट और सड़क निर्माण की जिम्मेदारी तय कर दी जाएगी। जल्द ही काम भी पूर्ण कराया जाएगा। - महेंद्र सिंह, एडीएम सिटी, बरेली

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप