जेएनएन, बरेली : एक जून से संचालित हो रही यात्री ट्रेनों के लिए जंक्शन पर तैयारियां पूरी की जा रही हैं। यात्रियों को निर्धारित समय से 90 मिनट पहले स्टेशन पहुंचने के साथ ही पांच चेकिग प्वाइंट से होकर गुजरना होगा। इसके लिए मुख्य प्रवेश द्वार से प्लेटफार्म तक सिक्योरिटी प्वाइंट बनेंगे। जबिक अन्य रास्तों को बंद करा दिया जाएगा। शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए ट्रेन आने से पहले यात्रियों को वेटिग हॉल में रोका जाएगा। ऑपरेटिग, चेकिग स्टाफ के अधिकारियों ने निर्णय लिया है कि एक ट्रेन प्लेटफार्म पर होने के दौरान दूसरी ट्रेन को आउटर पर रोका जाएगा। ऐसा शारीरिक दूरी का पालन कराने, सभी की जांच के लिए किया जाएगा। व्यवस्था के लिए आरपीएफ, जीआरपी के साथ ही होमगार्ड भी लगाए जाएंगे। पूरी व्यवस्था का गुरुवार को ट्रायल भी लिया गया। आरपीएफ निरीक्षक विपिन सिसौदिया ने बताया कि एक जून को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। यात्रियों को एक ही गेट से प्रवेश और एक ही गेट से बाहर निकलने की अनुमति दी जाएगी।

------------

ट्रेनों में सीट फूल, सौ के ऊपर पहुंची वेटिग

एक जून से चलने वाली ट्रेनों में जंक्शन में आठ ट्रेनों को ठहराव दिया गया है। इनमें से चार ट्रेनों में सीटें फुल हो गई। वेटिग शुरू होने पर रेलवे ने इन ट्रेनों में स्लीपर कोच बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। दरअसल सभी कोच में शारीरिक दूरी का पालन कराने की तैयारी है। ऐसे में जंक्शन पर ठहराव वाली लखनऊ मेल, श्रमजीवी एक्सप्रेस, सुहेलदेव और सत्याग्रह में यात्रियों ने वेटिग में भी आरक्षण करा लिया है। जबकि रेलवे वेटिग टिकट पर यात्रा करने पर प्रतिबंध की बात कह रहा है। बता दें कि श्रमजीवी एक्सप्रेस और लखनऊ मेल में 100 के करीब जबकि सुहेलदेव और सत्याग्रह में 50 से ऊपर वेटिग पहुंच गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस