जेएनएन, बदायूं : मोबाइल की खरीद-फरोख्त में रुपयों के लेनदेन को लेकर दो पक्षों के बीच हुआ विवाद इतना तूल पकड़ गया कि एक पक्ष ने अनुसूचित जाति के लोगों को पीटते हुए सड़क पर घुमाया। हमलावरों के तेवर देख ग्रामीण विरोध का साहस नहीं जुटा सके। शिकायत करने पर न तो थाना स्तर पर कोई कार्रवाई हुई और न ही सीओ स्तर से। सोमवार को सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल हो गया। तब एसपी देहात ने गांव पहुंचकर जांच-पड़ताल शुरू की।

थाना जरीफनगर के गांव भोयस निवासी राजीव से गांव के ही अनुसूचित जाति के एक युवक ने सात हजार रुपये में मोबाइल खरीदा था। उसने आधे रुपये तुरंत दे दिए थे, जबकि बाकी के रुपये 15 दिन बाद देने को कहा था। आरोप है कि राजीव पक्ष के लोग तय समय से पहले रुपये मांगने लगे। इस पर दोनों पक्षों में विवाद हो गया। इसके बाद राजीव पक्ष के लोगों ने अनुसूचित जाति के लोगों पर हमला बोल दिया। पीटते हुए सड़कों पर घुमाया गया। महिलाओं से घर में घुसकर बदसलूकी भी की गई। शिकायत के बाद भी थाना पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। मामला सीओ सहसवान के पास पहुंचा तो उन्होंने फोन पर मंगलवार को आने को कह दिया। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो अनुसूचित समाज के लोगों ने हंगामा किया।

क्या बोले पुलिस अधिकारी

घटनास्थल का मुआयना किया है। दोनों पक्षों के बयान लिए जा रहे हैं। दोनों पक्षों में एक-एक हिस्ट्रीशीटर भी शामिल हैं। वीडियो का अवलोकन कर पूरे प्रकरण की पड़ताल की जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। थाना स्तर पर कहां लापरवाही हुई इसकी भी जांच जारी है।

-डॉ. एसपी सिंह, एसपी देहात  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप