जागरण संवाददाता, बरेली: तेजी से बढ़ रहे डेंगू वायरस ने जिले में दोहरा शतक लगा लिया है। शुक्रवार को जिले में कुल 39 एलाइजा टेस्ट की रिपोर्ट आई। इनमें भोजीपुरा क्षेत्र के अभयपुर में ही तीन मरीज समेत कुल आठ नए मरीज मिले। इससे जिले में कुल डेंगू पाजिटिव मरीजों की संख्या 207 पहुंच चुकी है। मरीज मिलने के बाद फौरन टीमें यहां सर्वे करने के लिए पहुंची और निरोधात्मक कार्रवाई शुरू कराई गई।

इन मरीजों में डेंगू की पुष्टि

स्वास्थ्य महकमे के अफसरों के मुताबिक देहात की तुलना में शहरी क्षेत्र में डेंगू के मरीज अधिक सामने आ रहे हैं। वहीं भोजीपुरा और सीबीगंज इलाका सबसे अधिक प्रभावित है। शुक्रवार को जिले भर में कुल आठ नए मरीज मिले। इनमें सभी आयुवर्ग के लोग हैं। इज्जतनगर निवासी 58 वर्षीय रेशमा सिंह, अभयपुर निवासी 17 वर्षीय सुनील राणा, 25 वर्षीय मेहसर खान, 50 वर्षीय आनंद मसीह, फरीदपुर निवासी 11 वर्षीय अथर्व सिघल, मीरगंज के नंदगांव निवासी 22 वर्षीय मेहनाज, बहेड़ी के भगोही निवासी 25 वर्षीय लवनेश कुमार और बिथरी चैनपुर निवासी 64 वर्षीय ओमवती की रिपोर्ट पाजिटिव आने के साथ ही उनका इलाज जिले के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है।

मलेरिया के केस शून्य

एक तरफ डेंगू के केस लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं जिले में मलेरिया के मामले पिछले दिनों की तुलना में काफी कम हुए हैं। शुक्रवार को जिले भर में 207 मरीजों की जांच की गई। जिसमें एक भी मरीज मलेरिया से ग्रसित नहीं मिला है।

अब हर चौथी-पांचवी जांच में डेंगू पाजिटिव

जिले में तेजी से डेंगू और मलेरिया तेजी से पांव पसार रहे हैं। पंद्रह दिन पहले तक हर 20वीं जांच में एक पाजिटिव मिला था। वहीं गुरुवार को जिले में 112 एलाइजा टेस्ट हुए, इनमें डेंगू के 27 पाजिटिव केस मिले थे। यानी, हर चौथी जांच में पाजिटिव मिला। ये संख्या इस साल डेंगू संक्रमितों में सर्वाधिक रही थी। अभी तक जिले में डेंगू के इतने पाजिटिव केस एक दिन में नहीं मिले हैं। इसके अलावा शुक्रवार को जिले में कुल 39 एलाइजा टेस्ट में कुल आठ नए मरीज मिले। यानी हर चौथा-पांचवी एलाइजा जांच में डेंगू के केस सामने आ रहे हैं।

वार्ड में डेंगू के मरीजों के बेड पर तीमारदार खा रहे खाना

जिला अस्पताल में डेंगू के मरीजों के लिए 22 बेड के दो वार्ड निर्धारित किए गए हैं। लेकिन यहां स्टाफ की उदासीनता के चलते तीमारदार मरीजों के बेड पर ही मच्छरदानी हटाकर खाना खा रहे हैं ऐसे में मरीज और तीमारदार दोनों ही लिए बीमार होने का कारण बन सकता है।

वर्जन

डेंगू के केस का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है शुक्रवार को जिन इलाकों में डेंगू के मरीज मिले हैं वहां टीमों को निरोधात्मक कार्रवाई के लिए भेज दिया गया है।

डा. बलवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Edited By: Jagran