बदायूं, जेएनएन : जमीन की रंजिश में गुरुवार को कटरी में बवाल के दौरान सिपाही पर भी हमला किया गया था। उसकी पिस्टल छीन लग गई थी। पुलिस इस बात पर पर्दा डालती रही। शुक्रवार को जब जागरण ने मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया तब पुलिस को दो और मुकदमे लिखने पड़े। इनमें एक मुकदमा सिपाही से पिस्टल छीनने का भी है।

बरेली के थाना फतेहगंज पूर्वी इलाके के गांव पंखिया खेड़ा व पढ़ेरा के गांव वालों के बीच जमीन को लेकर गुरुवार को संघर्ष हुआ था। इसमें इरशाद नाम का युवक गोली लगने से घायल हुआ, जबकि बारेहसन को धारदार हथियार मारा गया था। करीब डेढ़ सौ राउंड फायर किए गए। आगजनी की गई। एक ट्रैक्टर समेत पांच बाइकें, दो साइकिल व पानी का इंजन आग के हवाले कर दिया गया। मौके पर पहुंची यूपी 100 पर तैनात सिपाही की पिस्टल भी छीनी गई। हालांकि बाद में पिस्टल वापस मिल गई थी।

मुकदमे में इन्हें कराया नामजद पिस्टल छीनने के मामले में पीआरवी कमांडर मनोज की ओर से सलमान, हनीफ, इमरान, आबिद, बजरुद्दीन और ताजुद्दीन के अलावा 15 अज्ञात के खिलाफ लूट, बलवा और मारपीट समेत सरकारी काम में बाधा डालने का मुकदमा लिखा गया है। जबकि एक और मुकदमा ट्रैक्टर मालिक असलम की ओर से लिखा गया है। इसमें इमरान, हामिद, जोरावर, पूर्व प्रधान तौफीक व बारेहसन समेत 15 अज्ञात लोग शामिल हैं।

सभी पर बलवा, आगजनी और जानलेवा हमले की धाराएं लगी हैं। रात में ही कबाड़ ले आई पुलिस आगजनी में कबाड़ बने वाहनों को पुलिस रात में ही थाने ले आई। जबकि मुकदमे भी लिख लिए गए। हालांकि अभी तक किसी भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

घटनाक्रम के दो और मुकदमे दर्ज हुए हैं। एक मुकदमा पहले ही लिखा जा चुका था। नामजदों की तलाश जारी है। जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी। - गोविंद सिंह, कोतवाल दातागंज

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस