बरेली, जेएनएन । एसओ भुता और एक इंस्पेक्टर का एक आडियो वायरल हुआ। इसमें एसओ भुता, इंस्पेक्टर से युवक को गलत जेल भेजने की बात कह कर माफी भी मांग रहे हैं। कह रहे हैं कि एसपी सिटी सस्पेंड करने की बात कह रहे थे, इसलिए उसे जेल भेजना पड़ा।

मुहल्ला मुंशीनगर निवासी युसुफ खां ने आडियो वायरल करने के साथ आरोप लगाए हैं कि एसओ भुता रविंद्र सिंह उनके भाई नासिर को 16 मार्च को घर से उठा ले गए थे। भुता एसओ रविंद्र सिंह ने कहा था कि नासिर पर कोई मामला नहीं है। तुम अपने दूसरे भाई आमिर को ले आओ।

उन्होंने कहा कि एक लाख रुपये दो,  दोनों पर कार्रवाई नहीं करेंगे। मुरादाबाद में तैनात इंस्पेक्टर शाहिद चौहान की सिफारिश पर एसओ मान गए। 50 हजार रुपये लेकर नासिर को छोड़ा। आमिर को यह कहते हुए रोक लिया कि एसपी सिटी उससे बात करेंगे।

अगले दिन थाने पहुंचे तो पता चला कि आमिर पर तमंचा लगाकर उसे जेल भेज दिया है। युसुफ ने इंस्पेक्टर शाहिद चौहान से बात की। इसके बाद शाहिद और एसओ भुता रविंद्र सिंह  की हुई बात का आडियो ही देर रात वायरल हुआ। अपनी गलती मानते हुए कह रहे हैं कि एसपी सिटी साहब कह रहे थे कि तुम काम नहीं करते हो, तुम्हे सस्पेंड करा देंगे।

आडियो में इंस्पेक्टर से जो बात हुई वह सही। वह सीनियर हैं, उनकी बात रखनी थी, इसलिए कह दिया गलती हो गई। जिसे जेल भेजा उसके पास तमंचा मिला था। कैसे छोड़ देते। - रविंद्र सिंह, एसओ भुता

मामले की जांच कराई जाएगी। आडियो को सुनने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। अगर मामला सही पाया गया तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। - शैलेश पांडेय, एसएसपी

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस