जेएनएन, बरेली: परसाखेडा में महावीर प्‍लाईवुड फैक्‍ट्री चलाने वाले संजीव गर्ग की हत्‍या कर दी गई। हमलावराें  ने घटना को हादसा दर्शाने के लिए शातिर तरीका अपनाया। उनकी कार को चार बार टक्‍कर मारी गई। उनका शव कार से बाहर पडा मिला। जिसके बाद स्‍पष्‍ट हुआ कि उनकी हत्‍या की गई है। सामान्‍य तौर पर हादसे में शव उसी वाहन में मिलता है। मगर, उन्‍हें बाहर खींचा गया। सिर पर भारी वस्‍तु से वार किए गए। कार के आसपास बिखरा खून बयां कर रहा कि उनके शव को बाहर निकालकर सडक पर घसीटा भी गया।   

संजीव गर्ग परसाखेडा में फैक्‍ट्री चलाते थे। गुरुवार की रात को वह अचानक घर से निकले।  कार से एएनए कालेेजक पास पहुंचे थे,वहीं घटना हुई। तडके तक वापस न आने पर परिवार वाले उन्‍हें तलाशने निकले। इस बीच पुलिस को कार के पास शव पडा होने की सूचना मिली। वहां जाकर देखा कि संजीव का शव कार से करीब पांच मीटर दूर पडा हुआ था। पूरा शरीर खून से लहूलुहान था। कार का अगला शीशा पूरा तरह टूटा हुआ था। साइड वाला शीशा व दरवाजा क्षतिग्रस्‍त होने से पुलिस को प्रथम दृष्‍टया हादसे का अनुमान हुआ। बाद में जब उनके शरीर व सिर पर गहरे घाव देखे तब मामला हत्‍या का माना जाने लगा। परिवार वालोंं ने किसी से रंजिश से इन्‍कार किया। फैक्‍ट्री के कुछ लोगों का कहना था संचालन को लेकर कुछ रिश्‍तेदारों से कहासुनी होती थी। हालांक‍ि यह पुरानी बात है। पुलिस प्रेम प्रसंग के पहलू पर भी गौर कर रही है। संजीव की काल डिटेल निकलवाई गई है।  

Edited By: Ravi Mishra