बरेली, जेएनएन : मौलाना कल्बे जव्वाद और शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी के बीच तेज हुई रार में अब मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी का नाम भी आ गया है। सोमवार को एक बार फिर तब हंगामा मच गया जब फरहत नकवी वसीम रिजवी की दूसरी पत्नी से मिलने उनके घर पहुंच गईं।

फरहत नकवी का आरोप है कि उनके पास शिकायत आ रही थी कि वसीम ने अपनी दूसरी पत्नी को बंधक बनाकर रखा है। वह वसीम की दूसरी पत्नी से मिलने गईं थी, लेकिन उन्हें मिलने नहीं दिया गया। वहीं वसीम रिजवी का आरोप है कि खुद को एक केंद्रीय मंत्री की बहन बताने वाली फरहत नकवी नाम की महिला मौलाना कल्बे जव्वाद व अन्य के इशारे पर सआदतगंज स्थित शिया यतीम खाना पहुंची थी।

वहां, महिला यतीम खाना में जबरन घुस गईं। आरोप है कि खुद को महिला आयोग का चेयरमैन बताया और कहा कि मैं वसीम रिजवी की जांच करने आई हूं। रोकने पर उन्होंने यतीम बच्चों से मारपीट की। वसीम ने इस मामले की शिकायत सीएम से करने की बात कही है। यतीमखाना के वार्डेन ने सआदतगंज थाने में शिकायत की है। वहीं फरहत नकवी ने भी पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर वसीम की दूसरी पत्नी से मुलाकात की मांग की है।

सभी आरोप झूठे 

फरहत नकवी का कहना है कि यतीमखाना में बच्चों से मारपीट, खुद को महिला आयोग का चेयरमैन बताने और केंद्रीय मंत्री की बहन का रसूख झाड़ने के आरोप झूठे हैं। यतीमखाना में सीसीटीवी कैमरे हैं, वीडियो दिखाएं या कोई ऑडियो सबूत के तौर पर पेश करें।

यतीमखाना में जाने की सूचना पर पहुंची पुलिस 

सीओ बाजारखाला अनिल यादव के मुताबिक महिलाओं के यतीम खाना में जाने की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची थी। उन्हें मजिस्ट्रेट से अनुमति लेकर पुलिस प्रशासन के साथ वहां जाने के लिए कहा गया है। दोनों पक्षों से प्रार्थना पत्र लेकर जांच की जा रही है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस