जागरण संवाददाता, बदायूं : समाजवादी पार्टी के सहसवान के प्रत्याशी ब्रजेश यादव ने एक जनसभा के दौरान भाजपाइयों को सीधे धमकाया। बोले कि मैंने अपने लड़कों को छूट दे दी तो उनके लिए छुपने का भी  ठिकाना नहीं रहेगा। इसका वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने जनभावनाओं को भड़काने और आचार संहिता उल्लंघन का मुकदमा सहसवान कोतवाली में दर्ज किया है।

सपा प्रत्याशी ब्रजेश यादव का गुरुवार को वायरल हुआ, जिसमें वह जनसभा को सम्बोधित करते हुए नजर आ रहे हैं। इसमें धमकी भरी लहजे में कह रहे कि अगर उन्होंने अपने लड़कों को छूट दे दी तो भाजपा नेताओं को छिपने के लिए भी ठिकाने नहीं मिलेंगे। इसे देखने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी दीपा रंजन ने इसका संज्ञान लिया और सहसवान पुलिस से इस मामले में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। इस पर सहसवान इंस्पेक्टर संजीव शुक्ला ने आचार संहिता उल्लंघन और जनभावनाओं को भड़काने के मामले में शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कराया है। इस मामले में सपा प्रत्याशी बृजेश यादव ने वीडियो को पुराना बताते हुए गलत मुकदमा दर्ज करने की बात कही है। सपा प्रत्याशी सैफई परिवार के धर्मेंद्र यादव के करीबी हैं।

लगातार चार बार से विधायक हैं पिता ओमकार सिंह

ब्रजेश यादव को सपा ने टिकट दिया है। वह अपने पिता पूर्व मंत्री ओमकार सिंह की विरासत संभालने चुनाव मैदान में उतरे हैं। बता दें कि ओमकार सिंह सहसवान से लगातार चार बार विधायक रहे हैं। एक बार मुलायम सिंह यादव के लिए उन्होंने अपनी सीट छोड़ी थी और सपा संरक्षक को यहां से जिता कर भेजा था। अब ब्रजेश यादव इस सीट से अपनी जीत के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

Edited By: Ravi Mishra