बरेली, जेएनएन : एक बार में तीन तलाक को सजा के दायरे में लाने का बिल गुरुवार को राज्यसभा में पेश होगा। इस बीच तीन तलाक का एक और मामला सामने आ गया है। पीडि़त फखरुन्निशां का आरोप है कि उनके शौहर हनीफ खां ने उन्हें मारपीट कर घर से निकाल दिया। दूसरी शादी कर ली है। उन्होंने शौहर के विरुद्ध तीन तलाक का मुकदमा दर्ज कराने के लिए कैंट थाना व एसएसपी को तहरीर दी है। 

दहेज में पांच लाख रुपये के लिए करता था प्रताड़ित

ठिरिया निजावत खां निवासी फखरून्निशां की शादी 25 अक्टूबर 2014 को हनीफ से हुई थी। आरोप है कि ससुराल वाले दहेज में पांच लाख रुपये देने की मांग को लेकर प्रताडि़त कर रहे थे। 10 दिसंबर को हनीफ खां ने फखरून्निशां को मारपीट कर घर से निकाल दिया। पीडि़ता का आरोप है कि हनीफ खां ने 23 दिसंबर को दूसरी शादी कर ली। जानकारी पर पिता के साथ 26 दिसंबर को ससुराल पहुंची तो तीन तलाक की बात कही गई।

मदद के लिए निदा के पास पहुंची

फखरुन्निशां ने आला हजरत हेल्पिंग सोसायटी की अध्यक्ष निदा खान को आपबीती सुनाकर मदद मांगी है। बुधवार को निदा खान पीडि़ता को लेकर एसएसपी के पास गईं। तहरीर दी और कार्रवाई की मांग की है।


बिना मुकदमे के पीड़िताओं को कैसे मिल पाएगा न्याय : निदा

कानून बनने की प्रक्रिया के बीच भी महिलाओं को तलाक देकर घर से निकाला जा रहा है। पुलिस मुकदमा दर्ज नहीं कर रही। ऐसे पीडि़ताओं को इंसाफ कैसे मिल पाएगा? दिसंबर में एक पीडि़ता को तलाक दी गई। पुलिस ने उनका भी मुकदमा नहीं लिखा है। -निदा खान, अध्यक्ष आला हजरत हेल्पिंग सोसायटी

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस