जागरण संवाददाता, बरेली : राशन वितरण की मशीनों में गड़बड़ी ने बुधवार को नवादा शेखान में जमकर हंगामा करवा दिया। कोटेदार के दुकान खोलते ही भीड़ उमड़ी, लेकिन तभी सर्वर दगा दे गया। देरी से गुस्साए कार्डधारकों ने मशीन फेंक दी। इस पर कोटेदार ने दुकान बंद कर दी। हंगामा होने पर बारादरी पुलिस पहुंची। उधर, साथी के साथ अभद्रता होने पर अन्य राशन डीलर लामबंद होकर बारादरी थाने जा पहुंचे। आखिर, देर शाम दोनों पक्षों में समझौता हो गया।

यह वाकया नवादा शेखान में राशन डीलर हसीन मियां की दुकान पर हुआ। अगस्त में राशन घोटाला होने के कारण इस माह का वितरण अभी रोका गया था। बुधवार से पहली बार दुकानें खुलीं। हसीन मियां के मुताबिक उनके यहां करीब 400 कार्ड हैं। राशन बायोमीट्रिक मशीन में फीडिंग के बाद दिया जाता है। पहले दिन काफी लोग पहुंचे। एक साथ लोड पड़ने से मशीन ठीक से काम नहीं कर रही थी। इसी दौरान कार्डधारकों की भीड़ में से एक युवक ने गालीगलौज कर उन पर हमला बोल दिया। मशीन फेंक दी। महिलाएं भी हंगामा करने लगीं।

बवाल ज्यादा बढ़ने पर यूपी-100 पहुंच गई।

कोटेदार हसीन मियां ने दुकान बंद कर दी और बारादरी थाने में शिकायत की। साथ ही, जिला पूर्ति अधिकारी और कोटेदार संघ के अध्यक्ष सुनील वर्मा को सूचना दी। हंगामा और कोटेदार से अभद्रता होने पर संघ के अन्य राशन डीलरों ने वितरण बंद कर दिया और हड़ताल कर दी। दोपहर में ही नगर क्षेत्र के 27 कोटेदार बारादरी थाने जा पहुंचे। एरिया राशनिंग अधिकारी भी पहुंच गए। बारादरी इंस्पेक्टर सतीश कुमार ने कोटेदार एसोसिएशन और हंगामा करने वाले कार्डधारकों से बातचीत कर उन्हें समझाया, तब शाम को समझौता हो सका।

Posted By: Jagran