जेएनएन, बरेली : सीतापुर-बरेली नेशनल हाईवे पर हुलासनगरा रेलवे क्रासिग मंगलवार सुबह 10 बजे से रात के 8 बजे तक मेटीनेंस के लिए बंद रही। पुलिस द्वारा ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया था, लेकिन ट्रैफिक व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई। रेलवे क्रासिग के दोनों तरफ दिन भर जाम लगा रहा। वहीं संपर्क मार्गो पर भी मुसाफिर जाम से रूबरू हुए।

बरेली-सीतापुर हाईवे पर पड़ने वाली हुलासनगरा रेलवे क्रासिग रेलवे लाइन की मरम्मत के कारण करीब 10 घंटे तक बंद रही। सुबह 10 बजे करीब रेलवे लाइन को ठीक करने के लिए फाटक को बंद किया गया। पीडब्ल्यू आई राजेंद्र पाल के मुताबिक चक रेल को ठीक करने के लिए क्रासिग को बंद किया गया था। चक रेल बदलने के साथ ही साथ फाटक के दोनों तरफ सर्विस रोड पर भी मरम्मत कार्य किया गया।

क्रासिग के बंद होने की सूचना पहले ही क्षेत्र के थानों को दे दी गई थी। लेकिन पुलिस उसके बावजूद ट्रैफिक व्यवस्था बनाने में सफल नहीं हुई और क्रासिग के दोनों तरफ लंबा जाम लगा रहा। सुबह सात बजे से ही घने कोहरे के कारण क्रासिग पर इतना भयंकर जाम लगा हुआ था कि स्कूल कॉलेजों को जाने वाली बसें भी जाम में फंसी रही। निजी विवि के छात्रों ने बताया कि सुबह 9:30 बजे से उनकी परीक्षा है और 8:30 बजने को है अभी तक उनकी बस स्टॉपेज पर नहीं पहुंच सकी है। वही लौटते समय भी छात्र जाम का शिकार हुए और देर रात तक अपने घर नहीं पहुंच सके थे। हाईवे के साथ-साथ संपर्क मार्गों पर भी जाम के हालात बने रहे। कसरक लिक मार्ग पर सबसे अधिक जाम लगा रहा। सुबह 8:30 तक जाम के कारण कालेज बस स्टाप पर नहीं आ पाई थी। जिस कारण कुछ देर से परीक्षा में पहुंचे।

- श्रेय अग्रवाल, फतेहगंज पूर्वी किसी जरूरी काम से शाहजहांपुर जाना था। रास्ते में कहीं भी डायवर्जन नहीं लगा था। जिससे लगा कि फाटक बंद नहीं हुआ है।लेकिन मौके पर पहुंचे तो फाटक बंद था। जिसके बाद कड़ी मशक्कत के बाद शाहजहांपुर तक पहुंच सके।

सार्थक कंसल, बरेली महानगर

Edited By: Jagran