बरेली, जेएनएन : शासन के आदेश के बाद जिले में होम आसोलेट होने वालों की संख्या बढ़ गई है। लोग खुद ही होम आइसोलेट होना चाहते हैं। देखने में आया है है कि होम आइसोलेट लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। ऐसी शिकायतें अब बहुत अधिक हो गई हैं। कमिश्नर तक मामला पहुंचने पर उन्होंने एसएसपी से बात की। कहाकि बीट के सिपाही को इस कार्य में लगाएं। जो लोग भी होम आइसोलेट हैं उस क्षेत्र के सिपाही को इसकी जानकारी होनी चाहिए।

जिले में इस समय कुल संक्रमितों की संख्या तीन हजार से अधिक है। जबकि सक्रिय संक्रमितों की संख्या 1700 के करीब है। इनमें से 1026 लोग होम आइसोलेट हैं। बीते कुछ दिनों से लगातार यह शिकायतें आ रही हैं कि संक्रमित व्यक्ति होमआइसोलेट का फायदा उठा रहे हैं। वह घर से बाहर निकल आते हैं, जिससे मुहल्ले और आस पड़ोस के लोगों में दहशत फैल जाती है। बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे कमिश्नर रणवीर प्रसाद के सामने भी यह बात रखी गई। इस पर उन्होंने कहाकि ऐसी शिकायतें उनके संज्ञान में भी आई हैं।इस पर उन्होंने एसएसपी शैलेश पांडेय से बात कर पूरा मामला बताया। निर्देश दिए कि सभी थाना क्षेत्रों के बीट के सिपाहियों को अपने अपने क्षेत्र के संक्रमित के बारे में जानकारी होनी चाहिए। वह बाहर घूमता मिले तो उसके खिलाफ कार्रवाई कराने के साथ ही उसे संस्थागत आइसोलेट कराया जाए। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग भी ऐसे लोगों को को चिन्हित कर रहा है।  

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप