जेएनएन, शाहजहांपुर : लॉ छात्रा से दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद को सोमवार दोपहर एमपी एमएलए एडीजे तृतीय कोर्ट में पेश किया गया। जहां कागजी कार्रवाही पूरी करने के बाद उन्हें वापस जेल भेज दिया गया। इसके साथ ही रंगदारी मांगने में जेल में बंद आरोपित संजय सिंह को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सीजेएम ओमवीर सिंह की कोर्ट में पेश किया गया। कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद उन्हें भी वापस जेल भेज दिया गया। 

स्थानांतरित हुआ मामला : सांसद होने के कारण पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद का मामला एमपी एमएलए काेर्ट में स्थानांतरित हुआ है। उन्हें एडीजे तृतीय कोर्ट में पेश किया गया । चिन्मयानंद बीस सितंबर से जेल में बंद हैं। उनकी जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में 16 नवंबर को सुनवाई पूरी हो चुकी है, लेकिन उस पर फैसला सुरक्षित रखा गया है।

चिन्मयानंद से ब्लैकमेंलिंग के आरोपित संजय सिंह को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सीजेएम ओमवीर सिंह की कोर्ट में पेश किया गया। दुष्कर्म पीड़ित छात्रा के अलावा सचिन सेंगर व विक्रम सिंह, डीसीबी चेयरमैन डीपीएस राठौर व भाजयुमो के पूर्व जिला मंत्री अजीत सिंह की भी पेशी होनी है।

चिन्मयानंद से ब्लैकमेंलिंग की आरोपित दुष्कर्म पीड़ित छात्रा, विक्रम सिंह व सचिन सेंगर जमानत पर जेल से रिहा हो चुके हैं। जबकि संजय सिंह अब भी जेल में बंद है। इस मामले में एसआइटी ने सभी को जेल भेजा था। इस मामले में अगली तारीख शाम को घाेषित होगी। 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस