बरेली, जेएनएन। Father and son fell on guard : बरेली के गंगाशील अस्पताल की चौथी मंजिल से दस साल के बेटे को गोद में लेकर कूदा युवक नीचे बैठे गार्ड पर गिरा था।इससे गार्ड की गर्दन और सिर में गंभीर चोट आई है।बॉडी के ऊपर से गिरनेे के बाद वह बेहोश हो गया था।वहीं अस्पताल में गार्ड को तत्काल भर्ती कराकर उपचार दिया गया।जिसके बाद उसकी हालत में सुधार है।

गंगाशील अस्पताल में गार्ड रामप्रकाश काफी समय से ड्यूटी कर रहे हैं।शुक्रवार की दोपहर में उनकी ड्यूटी थी।गार्ड रूम के बाहर वह कुर्सी पर बैठे थे।तभी यह हादसा हुआ। होश आने पर गार्ड रामप्रकाश ने बताया कि जब वह कुर्सी पर बैठे तभी अचानक उनके ऊपर भारी सी कोई चीज आकर गिरी।उसके गिरते ही वह मुंह के बल गिर गए।इसके तुरंत बाद धम्म से दूसरा कुछ गिरने की आवाज आई।पलटकर देखा ताेे दो एक युवक और बच्चा गिरे पड़े थे।इसके बाद वह बेहोश हो गए।गार्ड रामप्रकाश ने बताया कि उनकी गर्दन और सिर में चोट आई है।गर्दन में मूवमेंट कम है लेकिन अब हालत ठीक है।

गंगाशील अस्पताल में बरेली के बानखाना निवासी दीपक कश्यप कई दिन से भर्ती थे।दरअसल दीपक शराब का लती था।यही शराब की लत छुड़ाने के लिए परिवार वालों ने उसे गंगाशील अस्पताल में भर्ती कराया था।दीपक अस्पताल की चौथी मंजिल पर बने वार्ड में भर्ती था।दिन में दीपक की पत्नी और दस साल का बेटा दिव्यांश अस्पताल में उनसे मिलने आया था।सब कुछ ठीक था।इस बीच दीपक अपने बेटे दिव्यांश को गोद में लेकर वार्ड के बाहर बनी छत पर गया 

और थोड़ी देर खड़ा रहा।इसके बाद अचानक से बेटे को गोद में लिए हुए छत से छलांग लगा दी। उसी बिल्डिंग के नीचे बने गार्ड रूम के बाहर कुर्सी डालकर गार्ड रामप्रकाश बैठा था। तभी उसके ऊपर दिव्यांश आकर गिरा। जिससे गार्ड मुंह के बल आगे गिर पड़ा, तभी दूसरी बॉडी गिरने की धम्म से आवाज आई।जो दीपक की थी।बॉडी ऊपर गिरने से गार्ड तो घायल हो गया लेकिन चौथी मंजिल से कूदे दीपक और उसके बेटे दिव्यांश की मौके पर ही मौत हो गई।

Edited By: Samanvay Pandey