बरेली, जेएनएन। Dengue in Bareilly : जिले में तेजी से डेंगू और मलेरिया तेजी से पांव पसार रहे हैं। मलेरिया के केस तो पिछले कुछ दिनों में कम हुए लेकिन डेंगू वायरस की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। गुरुवार को जिले में 112 एलाइजा टेस्ट हुए, इनमें डेंगू के 27 पाजिटिव केस मिले। ये संख्या इस साल डेंगू संक्रमितों में सर्वाधिक है, अभी तक जिले में डेंगू के इतने पाजिटिव केस एक दिन में नहीं मिले हैं। जिले में अभी तक डेंगू के 199 केस सामने आ चुके हैं। वहीं बुधवार देर रात एक निजी अस्पताल में शाही के पूर्व चेयरमैन की उपचार के दौरान मौत हो गई। डाक्टरों के मुताबिक उन्हें डेंगू था। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के के पास इस केस की डेंगू एलाइजा पाजिटिव रिपोर्ट अभी नहीं पहुंची है। ऐसे में एक नामी शख्सियत की मौत और एक साथ डेंगू के इतने केस मिलने के बाद विभाग के अफसरों में भी खलबली मची है।

पांच दिन तक इलाज के बाद पूर्व चेयरमैन की मौत 

शाही नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन मुहम्मद वसीम खां को पांच दिन पहले बुखार आया था। उन्हें बरेली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जांच में कार्ड टेस्ट पाजिटिव आने के बाद एलाइजा टेस्ट के लिए सैंपल जिला अस्पताल भेजा गया। वहीं डेंगू का उपचार शुरू किया। गुरुवार को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। शाम को उनका शव कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया। जनाजे में पूर्व विधायक सुलतान वेग, मीरगंज चेयरमैन मुहम्मद इल्यास अंसारी, भाजपा मंडल अध्यक्ष शिवम शर्मा, जिला पंचायत सदस्य ममता गंगवार सहित सैकड़ों लोग शामिल हुए। वहीं इंटरनेट मीडिया पर भी शोक संदेश भेजे गए।

170 जांच में एक मलेरिया पाजिटिव 

स्वास्थ्य महकमे के अफसरों के मुताबिक जिले में मलेरिया की 170 जांचें की गई। इसमें महज एक मरीज में मलेरिया पीएफ यानि फाल्सीपेरम की पुष्टि हुई है।

यह कहते हैं आंकड़े 

- 12,29,818 जिले में किया जा चुका सर्वे

- 15,228 घरों में मिल चुका डेंगू का लार्वा

- 15,51,381 घरों के कंटेनर यानी कूलर, पानी के टैंक आदि की जांच हुई

- 21,104 घरों के कंटेनरों में मिला डेंगू का लार्वा

डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुवार को 27 मरीज डेंगू से ग्रसित मिले हैं। लोगों से अपील है कि डेंगू और मलेरिया के लक्षण होने पर फौरन डाक्टर से संपर्क करें। वहीं जरूरी बचाव करते रहें। शाही के पूर्व चेयरमैन की मौत डेंगू से हुई, इसकी अभी पुष्टि नहीं हुई है। एलाइजा रिपोर्ट से ही इसका पता चलेगा। - डा. बलवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी

Edited By: Ravi Mishra